• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • पेरू के नाइट क्लब में पुलिस रेड मारने पहुंची, भगदड़ में 13 लोगों की गई जान

पेरू के नाइट क्लब में पुलिस रेड मारने पहुंची, भगदड़ में 13 लोगों की गई जान

पेरू नाइट क्लब में भगदड़ के चलते 13 लोगों की मौत

पेरू नाइट क्लब में भगदड़ के चलते 13 लोगों की मौत

पेरू की राजधनी लीमा में एक नाइट क्लब में भगदड़ (Stampede at Night Club in Peru) मच जाने के कारण 13 लोगों की मौत (Thirteen People Died) हो गई. इस पार्टी में 120 से ज्यादा लोग शामिल थे.

  • Share this:
    लीमा. पेरू की राजधनी लीमा में एक नाइट क्लब में भगदड़ (Stampede at Night Club in Peru) मच जाने के कारण 13 लोगों की मौत (Thirteen People Died)  हो गई. दरअसल शनिवार की रात को इस नाइट क्लब में जब पुलिस ने छापेमारी (Police Raid in Lima's Night Club) की तो यहां मौजूद लोग इधर-उधर भागने लगे और इस क्रम में वे मारे गए. यह जानकारी पेरूवियन नेशनल पुलिस महानिदेशक आरलैंडो वेलास्को मुजिका ने दी.

    नाइट क्लब में घटना के समय 120 से ज्यादा लोग थे शामिल

    पेरू की राजधानी स्थित थॉमस रेस्टोरेंट बार में पुलिस छापेमारी के लिए शनिवार को गई. वहां गैरकानूनी तरीके से पार्टी आयोजित की जा रही थी. इस पार्टी में 120 से ज्यादा लोग शामिल थे. कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते यहां रेस्टोरेंट, बार आदि पर प्रतिबंध है और यही वजह है पुलिस इस क्लब को बंद कराने पहुंची थी लेकिन पुलिस के यहां पहुंचते ही अफरातफरी मच गई.

    रात 10 बजे के बाद देश में लग जाता है कर्फ्यू

    पेरू में सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों को सख्ती से लागू करने का निर्देश दिया गया है. पूरे देश में कहीं भी बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा नहीं होने का प्रावधान किया गया है. देश में कोरोनावायरस के संक्रमण को कम करने के लिए रात 10 बजे के बाद कर्फ्यू लगा दिया जाता है.

    कोरोनावायरस से पेरू में 27 हजार से ज्यादा की गई जान

    पेरू, अमेरिका का पहला देश है जहां कोरोनावायरस के उपयों को सख्ती से लागू किया गया. हालांकि लातिन अमेरिकी देशों में पेरू की हालत कोरोनावायरस के मद्देनजर बहुत खराब स्थिति में जा पहुंचा है. जॉन होपकिन्स यूनवर्सिटी के अनुसार पेरू में अबतक कोविड-19 के 5,76,000 नए मामले सामने आ चुके हैं. यहां कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते अबतक 27,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

    ये भी पढ़ें: म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिम नेताओं को नहीं लड़ने दिया जा रहा है आम चुनाव 

    चुनाव में बाइडेन जीते तो भारतीयों के हित में होगी इमीग्रेशन पॉलिसी, ये बदलाव होंगे

    गृह मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि पुलिस ने नाइट क्लब का कैंपस खाली कराने के लिए किसी भी तरह का हथियार या आंसू गैस का इस्तेमाल नहीं किया है. पुलिस जब क्लब के दूसरे माले पर पहुंची तो लोग बचने के लिए इधर-उधर भागने लगे और जिसके चलते वे सीढ़ियों में गिर गए और उनकी जान चली गई.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज