लाइव टीवी

बिल गेट्स ने हाथ में उठाया मानव मल, हैरान रह गए लोग, जानें क्या है पूरा मामला?

News18Hindi
Updated: November 6, 2018, 10:25 PM IST
बिल गेट्स ने हाथ में उठाया मानव मल, हैरान रह गए लोग, जानें क्या है पूरा मामला?
बिल गेट्स

‘भविष्य में शौचालय तकनीक’ को लेकर बीजिंग में एक कार्यक्रम आयोजित था. गेट्स भी इसमें शामिल होने पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि बिना स्वच्छता के बहुत सारी चीजें मानवीय जीवन को प्रभावित कर सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2018, 10:25 PM IST
  • Share this:
दुनिया के सबसे धनी और सक्रिय परोपकारियों में से एक बिल गेट्स ने दुनिया के विकासशील देशों द्वारा झेली जा रही शौचालयों की समस्या की तरफ दुनिया भर का ध्यान खींचने के लिए मंगलवार को एक स्टंट किया. लोगों ने जब मंगलवार को माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक को मानव मल का एक जार दिखाते हुए देखा तो चौंक गए.

बिल गेट्स नहीं, ये था दुनिया का सबसे अमीर आदमी

दरअसल ‘भविष्य में शौचालय तकनीक’ को लेकर बीजिंग में एक कार्यक्रम आयोजित था. गेट्स भी इसमें शामिल होने पहुंचे थे. बिल गेट्स ने यहां कहा कि बिना स्वच्छता के बहुत सारी चीजें मानवीय जीवन को प्रभावित कर सकती है. खुले में शौच से लोगों का जीवन प्रभावित होता है.

अरबपति गेट्स ने कहा, 'पर्याप्त संख्या में शौचालयों का नहीं होना, न सिर्फ जीवन जीने के तरीके को प्रभावित करता है बल्कि यह बीमारी, मौत और कुपोषण से भी जुड़ा है. उन्होंने बताया कि दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी आरामदायक स्वच्छता सुविधाओं से वंचित है.

कंप्यूटर के बाद गाय के बिजनेस में उतरे बिल गेट्स, बना रहे 4 G 'सुपरकाउ'



बता दें कि बीजिंग में‘रिइन्वेंटेड टॉयलेट एक्सपो’चल रहा है. यह कार्यक्रम बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने सीवर की जगह नई तकनीक के इस्तेमाल को दिखाने के लिए आयोजित किया है.

कंप्यूटर के बाद गाय के बिजनेस में उतरे बिल गेट्स, बना रहे 4 G 'सुपरकाउ'



दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन में शौचालयों को बदबू मुक्त करने के लिए अभियान चल रहा है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस अभियान को ‘शौचालय क्रांति’ बताया है.

वहीं, भारत में भी इसी तरह का लोक स्वास्थ्य अभियान चल रहा है. भारत सरकार का कहना है कि 2014 में 55 करोड़ लोग खुले में शौच करते थे, जो अब कम होकर 15 करोड़ रह गए हैं. (एजेंसी इनपुट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2018, 10:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर