होम /न्यूज /दुनिया /आखिर नॉर्थ कोरिया क्यों जाना चाहते हैं पोप फ्रांसिस? सनकी तानाशाह से कहा- प्लीज मुझे अपने देश बुलाइए

आखिर नॉर्थ कोरिया क्यों जाना चाहते हैं पोप फ्रांसिस? सनकी तानाशाह से कहा- प्लीज मुझे अपने देश बुलाइए

पोप ने कहा कि मेरी यात्रा का उद्देश्य सिर्फ आपसी बंधुत्व है. (फाइल फोटो)

पोप ने कहा कि मेरी यात्रा का उद्देश्य सिर्फ आपसी बंधुत्व है. (फाइल फोटो)

Kim Jong Un, Pope Francis, North Korea: परमाणु सशस्त्र देश की संभावित पोप यात्रा 2018 में शुरू हुई थी जब साउथ कोरिया के ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: पोप फ्रांसिस ने कहा कि वह वैश्विक शांति को बनाए रखने के लिए उत्तर कोरिया की यात्रा करने को तैयार है. इसके लिए उन्होंने प्योंगयांग से उन्हें आमंत्रित करने के लिए भी कहा है. इस बात की जानकारी उन्होंने शुक्रवार को एक टीवी इंटरव्यू के दौरान कही. पोप ने कहा कि अगर उन्हें उत्तर कोरिया की यात्रा करने का मौका मिलता है तो वह इसे ठुकराएंगे नहीं.

परमाणु सशस्त्र देश की संभावित पोप यात्रा 2018 में शुरू हुई थी जब साउथ कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति मून जे-इन ने प्योंगयांग लीडर किम जोंग उन के साथ कूटनीतिक दौरे की शुरुआत की थी. उस समय मून ने एक शिखर सम्मेलन के दौरान कहा था कि किम जोंग ने उनसे कहा था कि पोप का उत्साहपूर्वक स्वागत किया जाएगा.

उस समय संत पोप फ्रांसिस ने कहा था कि अगर उन्हें उत्तर कोरिया की तरफ से आधिकारिक निमंत्रण प्राप्त होता है तो वह वहां जाने के लिए तैयार है.लेकिन 2019 में प्योंगयांग और सियोल के बीच संपर्क खत्म हो जाने के बाद उनकी संभावित यात्रा की बातचीत रुक गई.

आमंत्रित किया जाएगा तो जरूर जाऊंगा
पोप फ्रांसिस ने शुक्रवार को एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि जैसे ही मुझे आमंत्रित किया जाएगा मैं वहां जाऊंगा, मैंने उनसे कहा कि मुझे आमंत्रित कीजिए मैं मना नहीं करुंगा. उन्होंने कहा कि मेरी यात्रा का उद्देश्य सिर्फ आपसी बंधुत्व है.

मौजूदा समय में उत्तर कोरिया और साउथ कोरिया के बीच संबंध काफी निचले स्तर हैं. साउथ कोरिया ने हाल ही में उत्तर कोरिया को परमाणु निरस्त्रीकरण के बदले सहायता की पेशकश की, लेकिन किम के शासन ने योजना का मजाक उड़ाया. वहीं दूसरी तरफ किम ने उत्तर कोरिया में कोविड महामारी फैलने का जिम्मेदार साउथ कोरिया को ठहराया था.

Tags: Kim Jong Un, North Korea, Pope Francis

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें