सिंगापुर के सबसे प्राचीन हिंदू मंदिर का पुजारी गिरफ्तार, गायब हुए सभी आभूषण लौटाए

सिंगापुर के सबसे प्राचीन हिंदू मंदिर का पुजारी गिरफ्तार, गायब हुए सभी आभूषण लौटाए
सिंगापुर के सबसे प्राचीन हिंदू मंदिर का पुजारी गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सिंगापुर के सबसे प्राचीन हिंदू मंदिर (Ancient Hindu Temple of Singapur) के मुख्य पुजारी को ‘आपराधिक विश्वासघात’ (Criminal Betrayl) के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है.

  • Share this:
सिंगापुर. सिंगापुर के सबसे प्राचीन हिंदू मंदिर (Ancient Hindu Temple of Singapur) के मुख्य पुजारी को ‘आपराधिक विश्वासघात’ (Criminal Betrayl) के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है. यह जानकारी सिंगापुर पुलिस ने दी. मंदिर की तरफ से शनिवार को जारी एक बयान में कहा गया कि श्री मरियाम्मान मंदिर (Sri Mariyamman Temple) की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गई थी क्योंकि पुजारी की देखरेख में रखे गए सोने के कुछ गहने गायब थे.

36 वर्षीय आरोपी पुजारी ने गायब किए सोने के आभूषण लौटाए

चैनल न्यूज एशिया के मुताबिक मंदिर की ओर से कहा गया कि गहने गायब होने की जानकारी अकाउंट्स के जांच के दौरान मिली. हालांकि बयान में पुजारी के नाम का जिक्र नहीं है. इसमें कहा गया कि प्रार्थनाओं के दौरान जिन स्वर्ण आभूषणों का उपयोग किया जाता था उन्हें मंदिर के गर्भगृह में मुख्य पुजारी की निगरानी में रखा गया था.



ये भी पढ़ें: पाकिस्तान आर्मी चीफ चुपके से पहुंचे एलओसी, सैनिकों से कहा- चुनौतियों के लिए तैयार रहें
अमेजन के जंगल का 28% हिस्सा जुलाई तक खाक, 6,803 आग की घटनाएं घटीं

ब्रिटिश सरकार महात्मा गांधी की याद में एक सिक्का चलाना चाहती है

भारतीयों के लिए खुशखबरी! UAE में अब दो दिनों के अंदर होगा पासपोर्ट का नवीनीकरण

मंदिर से गायब हुए सोने के आभूषणों बारे में पुजारी से पूछताछ की गई. इसके बाद पुजारी ने सभी गायब किए गए आभूषण बाद में लौटा दिए. पुलिस ने बताया कि 36 वर्षीय पुजारी को आपराधिक विश्वासघात के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है. मंदिर की ओर से कहा गया है कि मुख्य पुजारी अभी जमानत पर है. पुलिस ने बताया कि मामले की जांच चल रही है.

सिंगापुर में अमर सिंह की मौत, छह महीने से करा रहे थे इलाज

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के निवासी राज्यसभा सदस्य 64 साल की उम्र में अमर सिंह ने शनिवार को सिंगापुर में दम तोड़ दिया. समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सदस्य रहे, लेकिन बाद में उनको समाजवादी पार्टी से बाहर कर दिया गया था. समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी रहे तथा समाजवादी पार्टी को हाईटेक करने वाले अमर सिंह की किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading