प्रिंस चार्ल्स ने हैरी और मेगन मार्कल के आरोपों पर चुप्पी साधी

2020 में मेगन और हैरी ने शाही कर्तव्यों से अलग होने का ऐलान कर दिया था. (फाइल फोटो)

2020 में मेगन और हैरी ने शाही कर्तव्यों से अलग होने का ऐलान कर दिया था. (फाइल फोटो)

राजकुमार हैरी और उनकी पत्नी मर्केल ने अमेरिकी टीवी कार्यक्रम प्रस्तोता ओपरा विनफ्रे को दिए साक्षात्कार में शाही परिवार में नस्लवाद के आरोप लगाए थे.

  • Share this:
लंदन. प्रिंस चार्ल्स (Prince Charles) ने मंगलवार को लंदन में कोविड-19 टीकाकरण केंद्र (Covid-19 Vaccination Center) का दौरा करने के दौरान हैरी और मेगन मार्कल द्वारा ओपरा विन्फ्रे को दिए गए साक्षात्कार पर कुछ नहीं कहा. हैरी के पिता चर्च में बनाए गए एक अस्थायी टीकाकरण क्लीनिक का जायजा लेने गए और वहां स्वास्थ्यकर्मियों, चर्च के कर्मचारियों तथा अन्य लोगों से मुलाकात की. बकिंघम पैलेस पर साक्षात्कार में लगाए गए आरोपों पर जवाब देने का दबाव बढ़ रहा है. हैरी और मेगन का साक्षात्कार रविवार को प्रसारित होने के बाद प्रिंस चार्ल्स पहली बार सार्वजनिक तौर पर नजर आए.

क्लीनिक में मौजूद एक मरीज माजिया मर्जोक ने कहा कि चार्ल्स ने दौरे के दौरान निजी मुद्दों पर कोई बात नहीं की. इससे पहले खबर मिली थी कि हैरी और मेगन मर्केल के अमेरिका के एक चैनल को दिए साक्षात्कार के एक दिन बाद ब्रिटेन के शाही महल बकिंघम पैलेस में उथल-पुथल मची हुई है. वहीं प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस मामले में टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.

ये भी पढ़ें- भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए अच्‍छे संकेत! क्रिसिल का अनुमान, 2021-22 में 11 फीसदी रहेगी विकास दर



मर्केल ने शाही परिवार पर लगाए थे नस्लवाद के आरोप
राजकुमार हैरी और उनकी पत्नी मर्केल ने अमेरिकी टीवी कार्यक्रम प्रस्तोता ओपरा विनफ्रे को दिए साक्षात्कार में शाही परिवार में नस्लवाद के आरोप लगाए थे. ब्रिटेन के कुछ मीडिया संस्थानों की रिपोर्ट के मुताबिक शाही महल में बयान तैयार कर लिया गया है लेकिन इस पर अभी महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय ने हस्ताक्षर नहीं किए हैं.

39 वर्षीय पूर्व अभिनेत्री ने मर्केल ने यह भी कहा था कि उन्हें आत्महत्या करने जैसे ख्याल आने लगे थे.

मेगन ने यह भी बताया कि वह जब पहली बार गर्भवती हुईं तो, ‘‘इस बात को लेकर काफी चिंता व्यक्त की गई थी कि उनके बेटे आर्ची की त्वचा का रंग कैसा होगा.’’ उनसे यह कहा गया कि आर्ची को राजकुमार का दर्जा नहीं दिया जाएगा और न सुरक्षा दी जाएगी.

इस बारे में पूछे जाने पर प्रधानमंत्री ने कहा कि महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय ने देश तथा राष्ट्रमंडल के लिए जो भूमिका निभाई है, उसकी उन्होंने हमेशा तारीफ की है. उन्होंने कहा कि शाही परिवार के मामलों में उन्होंने कभी कोई टिप्पणी नहीं की है और आज भी वह अपनी इस स्थिति से हटने वाले नहीं हैं.

मुख्य विपक्षी लेबर पार्टी के नेता सर कीर स्टार्मर ने कहा कि शाही परिवार को आरोपों को गंभीरता से लेना चाहिए. हैरी ने साक्षात्कार में कहा था कि उन्हें लगता है कि उनके पिता चार्ल्स ने उनको निराश किया और कई ऐसी चीजें हुईं, जिससे वह आहत हैं. हैरी ने कहा था कि जब उन्होंने शाही दायित्व छोड़ने का फैसला किया तो चार्ल्स ने उनके कॉल का जवाब देना भी बंद कर दिया.



(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज