लाइव टीवी

लंदन: भारतीय उच्चायोग के सामने पाकिस्तान समर्थकों को प्रदर्शन की नहीं मिली इजाजत

भाषा
Updated: October 25, 2019, 9:43 AM IST
लंदन: भारतीय उच्चायोग के सामने पाकिस्तान समर्थकों को प्रदर्शन की नहीं मिली इजाजत
सांकेतिक तस्वीर

भारत ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने पाकिस्तान के समर्थन में प्रदर्शन का मुद्दा मजबूती के साथ ब्रिटिश सरकार के समक्ष उठाया था और ब्रिटेन ने भी भरोसा दिया था कि वह कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाएगा.

  • Share this:
दीपावली के दिन कश्मीर के मुद्दे पर लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने प्रदर्शन की तैयारी कर रहे पाकिस्तान समर्थक अलगाववादियों (Pro-Pakistani Separatist Groups) को ब्रिटिश प्रशासन ने इसकी इजाजत देने से इनकार कर दिया है. ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बुधवार को हाउस ऑफ कॉमन में कहा था कि किसी प्रदर्शन में हिंसा पूरी तरह से अस्वीकार्य है. इसके एक दिन बाद लंदन महानगर पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड ने पुष्टि की कि उसने विरोध मार्च निकालने के लिए आवेदन करने वाले समूह पर रोक लगा दी है.

महानगर पुलिस के उप सहायक आयुक्त मैट ट्विस्ट ने कहा, ‘हम प्रदर्शनकारियों के लिए प्रदर्शन की तारीख की प्रासंगिकता को समझते हैं लेकिन साथ ही हम हिंदू त्योहार दिवाली पर भी गौर कर रहे हैं जो इसी दिन है. मेरा उद्देश्य है कि इस दिन प्रदर्शनकारियों और इससे प्रभावित होने वाले लोगों के अधिकारों में संतुलन बनाया जाए.
उन्होंने कहा, ‘हम अपराध और अवज्ञा को रोकने के लिए हर जरूरी कदम उठा रहे हैं.’

इससे पहले खबर आई थी कि भारत ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने पाकिस्तान के समर्थन में प्रदर्शन का मुद्दा मजबूती के साथ ब्रिटिश सरकार के समक्ष उठाया था और ब्रिटेन ने भी भरोसा दिया था कि वह कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाएगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दो बार भारत विरोधी प्रदर्शन हुए जिसे पाकिस्तान ने प्रायोजित किया था. उन्होंने कहा, 'भारतीय उच्चायोग के कामकाज में बाधा उत्पन्न की गई. हमने इस मामले में अपना पक्ष ब्रिटिश सरकार के समक्ष उठाया.’’

इससे पहले सितंबर में भी विरोध प्रदर्शन हुआ था. इसमें प्रदर्शनकारी भारतीय उच्चायोग के नजदीक पहुंच गए थे. इसमें उन्होंने उच्चायोग पर टमाटर और अंडे भी फेंके थे. इस विरोध प्रदर्शन में खिड़कियों के शीशे भी टूट गए थे. लंदन के मेयर सादिक खान ने इस घटना की कड़ी निंदा की थी. हालांकि इस बात पर भी सवाल उठे थे कि पुलिस उच्चायोग से कुछ दूरी पर प्रदर्शनकारियों पर लगाम लगाने में क्यों नाकाम रही.

ये भी पढ़ें:
Loading...

लातूर में रितेश देशमुख के भाई धीरज के सामने शिवसेना पस्त, NOTA ने किया मुकाबला

तेलंगाना की इस सीट पर उपचुनाव में रिकॉर्ड बहुमत से जीती TRS

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 5:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...