लाइव टीवी

पाकिस्‍तान में महिलाओं की समस्‍याओं का हल अब 'बेटी ऐप' से होगा 

News18Hindi
Updated: February 19, 2020, 1:13 PM IST
पाकिस्‍तान में महिलाओं की समस्‍याओं का हल अब 'बेटी ऐप' से होगा 
पाकिस्‍तानी महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने वाले 'बेटी ऐप' में महिलाओं के लिए हेल्‍पलाइन और जॉब सर्च की सुविधा भी होगी.

'बेटी ऐप' जल्‍दी ही कराची में लॉन्‍च किया जा रहा है. यह एप्‍लीकेशन एक पोर्टल के तौर पर काम करेगी, जो महिलाओं के अधिकारों, कानून, शिक्षा और स्‍कॉलरशिप के बारे में घर बैठे जानकारी उपलब्‍ध कराएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2020, 1:13 PM IST
  • Share this:
पाकिस्‍तान (Pakistan) की ओर से महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए एक एप्‍लीकेशन (Application) तैयार करवाई जा रही है. यह उन्‍हें अपने स्‍मार्ट फोन पर वह सभी सहूलियतें देगी जिनके लिए उन्‍हें पहले या तो अलग-अलग दफ्तरों के चक्‍कर लगाने पड़ते थे या फिर इसके लिए अपने रिश्‍तेदारों पर निर्भर रहना पड़ता था.

'उर्दू न्‍यूज' के मुताबिक पाकिस्‍तान के सूचना और प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) की ओर से कहा गया है कि 'बेटी ऐप' जल्‍दी ही कराची में लॉन्‍च किया जा रहा है. यह एप्‍लीकेशन एक पोर्टल (Portal) के तौर पर काम करेगी जो महिलाओं के अधिकारों, कानून, शिक्षा और स्‍कॉलरशिप के बारे में घर बैठे जानकारी उपलब्‍ध कराएगी.

इसके अलावा इस एप्‍लीकेशन पर महिलाओं के लिए हेल्‍पलाइन (Helpline) और जॉब पोर्टल भी रहेगा. वहीं इसके जरिये अस्‍पतालों, शैक्षिक संस्‍थाओं, पुलिस स्‍टेशनों और हॉस्‍टल को भी सर्च किया जा सकेगा. इस बेटी प्रोजेक्‍ट के तहत महिलाओं को एक हेल्‍पलाइन भी मुहैया कराई जाएगी. इसके जरिये वे इस ऐप पर अन्‍य जानकारी भी हासिल कर सकेंगी. वहीं 'बेटी ऐप' सरकारी और निजी विभागों में महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए शुरू होने वाली सभी योजनाओं के बारे में भी जानकारी उपलब्‍ध कराएगा.

ये भी पढ़ें - पाक-भारत एटमी जंग से 12 करोड़ लोगों की मौत हो सकती है : रिपोर्ट



                बम धमाकों की आवाज पर बेटी को खिलखिलाना सिखाता दिखा पिता

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2020, 1:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर