अपना शहर चुनें

States

इलेक्टोरल कॉलेज वोटिंग में बाइडन की जीत के बाद आखिरकार पुतिन ने भी दी बधाई

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

Putin Congratulates Biden: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने आखिरकार प्रेजिडेंट इलेक्ट जो बाइडन (Joe Biden) को इलेक्टोरल कॉलेज की वोटिंग में जीत के बाद अमेरिका का नया राष्ट्रपति चुने जाने की बधाई दे दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2020, 9:46 AM IST
  • Share this:
मॉस्को. इलेक्टोरल कॉलेज की वोटिंग में जो बाइडन (Joe Biden) की स्पष्ट जीत के बाद आखिरकार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने भी उन्हें जीत की बधाई दे दी है. इससे पहले पॉपुलर वोटों में बाइडन कि जीत के दावों को रूस ने आधिकारिक मानने से इनकार कर दिया था और इंतज़ार करने की बात कही थी. NYT के मुताबिक पुतिन ने बाइडन के लिए ये बधाई संदेश 'टेलीग्राम' के जरिए भेजा है. पुतिन ने आशा जताई है कि बाइडन के नेतृत्व में दोनों देशों के बीच दोस्ताना रिश्ते कायम रहेंगे.

बता दें कि इससे पहले पुतिन ने ये कहकर सबको चौंका दिया था कि फिलहाल प्रेजिडेंट इलेक्ट जो बाइडन को आधिकारिक बधाई देने का सही समय नहीं आया है, रूस फिलहाल उन्हें राष्ट्रपति नहीं मानता है. पुतिन ने कहा था कि हम किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ काम करने के लिए तैयार हैं, लेकिन फिलहाल जो बाइडन की इलेक्शन में जीत के दावे को मानने के लिए कुछ और इंतज़ार करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका की जनता ने जिसे भी लीडर पर भरोसा जताया हो हम उसके साथ काम करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. रशियन स्टेट टीवी से बातचीत में पुतिन ने कहा था- किसी भी कैंडिडेट कि जीत को निश्चित तभी माना जा सकता है जब विपक्षी पार्टी ने उसकी जीत स्वीकार कर ली हो, या फिर उसकी जीत के नतीजे वैध और कानूनी तरीके से घोषित किये गए हों.

पौलेंड के राष्ट्रपति ने भी दी बधाई
बता दें कि सिर्फ पुतिन ही नहीं पौलेंड ने भी अभी तक बाइडन को राष्ट्रपति मानने से इनकार किया हुआ था. हालांकि मंगलवार को पौलेंड के राष्ट्रपति आंद्रजेज दुदा ने भी बाइडन को बधाई संदेश भेज ही दिया. उन्होंने इस संदेश में कहा कि इलेक्टोरल कॉलेज की वोटिंग के नतीजों के बाद मैं बाइडन को बधाई देना चाहता हूं, उनका राष्ट्रपति कार्यकाल शुभ रहे. पौलेंड और अमेरिका के बीच रिश्ते मधुर हैं और यूरोपीयन एंड ट्रांस-अटलांटिक की स्थिरता के लिए दोनों देशों का साथ काम करना ज़रूरी है.



बता दें कि पुतिन उन कुछ वर्ल्ड लीडर्स में शामिल थे जिन्होंने अभी तक बाइडन की जीत को वैध मानने और उन्हें बधाई देने से दूरी बनाई हुई थी. रूस पर साल 2016 के अमेरिकी चुनावों में भी हस्तक्षेप और हैकिंग के जरिए ट्रंप को फायदा पहुंचाने के आरोप लगे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज