प्लेन में महिलाओं की जबरन जांच के लिए कतर ने मांगी माफी, सरकार ने मामले की जांच शुरू की

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

एयरपोर्ट अधिकारियों को कचरे में एक प्लास्टिक बैग में एक नवजात मिला था. इस मामले में बच्चे की मां का पता करने के लिए विमान में सवार महिलाओं की जांच की गई थी. जांच के तरीकों की काफी आलोचना हुई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 2:55 PM IST
  • Share this:
दुबई. ऑस्ट्रेलिया जाने वाले विमान में बैठी महिला यात्रियों की जांच को लेकर कतर एयरवेज (Qatar Airways) ने बुधवार को माफी मांगी है. विमान में महिला यात्रियों की जांच के तरीके के चलते एयरवेज को काफी आलोचना का सामना करना पड़ा था. कतर के सरकारी संचार कार्यालय ने बुधवार सुबह एक बयान जारी किया था कि अधिकारियों को कचरे के अंदर ‘प्लास्टिक बैग’ में एक नवजात (Infant) मिला है.

कतर सरकार ने शुरू की जांच
अधिकारियों ने अक्टूबर की शुरुआत में हवाई अड्डे पर लावारिस छोड़ दिए गए एक नवजात शिशु की मां की पहचान करने के लिए महिला यात्रियों की जांच की थी. ऑस्ट्रेलिया ने महिला यात्रियों की जबरन जांच की निंदा की. इसके बाद कतर सरकार ने कहा कि उसने दो अक्टूबर को सिडनी (Sydney) जा रही ‘कतर एयरवेज फ्लाइट 908’ में सवार महिलाओं के साथ हुए बर्ताव की जांच शुरू कर दी है.

कतर ने इसपर फिलहाल कोई सफाई नहीं दी है कि उसके अधिकारियों ने महिलाओं के जननांगों की अंदरूनी जांच करने का फैसला क्यों किया. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं (Human right activist) ने इस तरह की बलपूर्वक जांच को यौन हमले के समान बताया है.



सिडनी में एयरपोर्ट कर्मियों ने काम रोका
सिडनी एयरपोर्ट पर मौजूद यूनियन कतर एयरवेज के जेट्स को साफ करने, फ्यूल भरने और दूसरी सर्विसेज के लिए मना करने पर विचार कर रहा है. मंगलवार को ऑस्ट्रेलियाई स्टेट के न्यू साउथ वेल्स में ट्रांसपोर्ट वर्कर्स यूनियन ने एक बयान जारी किया है महिलाओं के मानवाधिकारों पर हुए इस खतरनाक हमले से सदस्य नाराज हैं.

(इनपुट: भाषा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज