चीन के खिलाफ Quad की दूसरी बैठक मंगलवार को, भारत समेत चार देश होंगे शामिल

डिजाइन इमेज.
डिजाइन इमेज.

कोरोना महामारी (Corona) पर पूरी दुनिया में घिरे चीन की दोस्तों की फेहरिस्त घटती जा रही है और अमेरिका (America) समेत दुनिया के कई बड़े देश अब उसके खिलाफ हो रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 10:54 PM IST
  • Share this:
टोक्यो. चीन से बढ़ते खतरों से निपटने के लिए द क्वॉड्रिलैटरल सिक्‍यॉरिटी डायलॉग (Quad) की दूसरी बैठक कल यानी मंगलवार को जापान (Japan) की राजधानी टोक्यो में शुरू होगी. इस बैठक में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका के विदेश मंत्री हिस्सा लेंगे. इस संगठन की पहली बैठक साल 2019 में न्यूयॉर्क में हुई थी. इस बैठक में क्षेत्रीय सुरक्षा पर औपचारिक रूप से इस संगठन को मजबूत बनाने को लेकर सभी देशों में सहमति बन सकती है.

इस समय चीन का दुनियाभर के देशों से विवाद चल रहा है. कोरोना वायरस महामारी को चीन की आक्रामक विस्तारवादी नीतियों से एशिया में भारत और जापान सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. ये दोनों देश इस महाद्वीप की सबसे बड़ी आर्थिक और सैन्य शक्ति हैं. वहीं दूसरी तरफ, अमेरिका का भी चीन से कई मुद्दों को लेकर तनाव चल रहा है. ताइवान, हॉन्ग कॉन्ग, दूतावास, तिब्बत समेत कई ऐसे मुद्दे हैं जिसे लेकर अमेरिका और चीन आमने सामने हैं. इसीलिए चीन के खिलाफ ये शक्तियां एकजुट होती दिखाई दे रही हैं.

ये भी पढ़ें: वाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी कायले मैकनेनी Corona संक्रमित, सोमवार को आई रिपोर्ट



पहले भारत था सबसे कमजोर कड़ी
क्‍वॉड की दूसरी सबसे कमजोर कड़ी भारत को माना जाता था. इसकी वजह दोनों देशों के बीच होने वाला आर्थिक व्यापार था. 2014 में जब भारत में सत्ता परिवर्तन हुआ उसके बाद से राष्ट्रवाद की भावना भी तेजी से बढ़ी. 1962 के बाद से ही भारत में चीन को शक की निगाह से देखा जाता रहा है. हाल में जब चीन ने लद्दाख के क्षेत्र में घुसपैठ की और गलवान की घटना को अंजाम दिया तब भारत का ड्रैगन से पूरा मोहभंग हो गया. इसी कारण भारत और अमेरिका भी तेजी से करीब आए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज