पाकिस्तानी अखबार में आखिर क्यों छाए रणवीर और प्रियंका चोपड़ा?

डॉन ने अपनी वेबसाइट में प्रियंका चोपड़ा और रणवीर सिंह से जुड़ी दो खबरों को तरजीह दी. वेबसाइट डॉन ने बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की तुसाद म्यूज़ियम में वैक्स स्टेच्यू लगने की खबर को प्रकाशित किया.

News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 4:12 PM IST
पाकिस्तानी अखबार में आखिर क्यों छाए रणवीर और प्रियंका चोपड़ा?
पाकिस्तानी फैंस के साथ रनवीर सिंह. (फोटो क्रेडिट - इंस्टाग्राम)
News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 4:12 PM IST
पाकिस्तानी अखबार और वेबसाइट डॉन ने बॉलीवुड के दो सितारों की खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित किया. डॉन ने अपनी वेबसाइट में प्रियंका चोपड़ा और रणवीर सिंह से जुड़ी दो खबरों को तरजीह दी. वेबसाइट डॉन ने बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की तुसाद म्यूज़ियम में वैक्स स्टेच्यू लगने की खबर को प्रकाशित किया.

डॉन लिखता है कि लंदन के टूसाद म्यूज़ियम में प्रियंका की स्टैच्यू लगने के साथ ही अब दुनिया के चार महाद्वीपों में उनकी वैक्स स्टैच्यू लग गई है. डॉन लिखता है कि प्रियंका की स्टैच्यू की शुरुआत साल 2018 में न्यूयॉर्क से हुई जो कि सिडनी, हॉन्ग कॉन्ग होते हुए लंदन के म्यूज़ियम तक पहुंची.

इसके अलावा डॉन ने बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह और पाकिस्तानी फैन्स के बीच हुई मुलाकात को खबर बनाया है. डॉन के मुताबिक भारत से हारने के बाद जब पाकिस्तानी फैन बुरी तरह निराश था तब रणवीर सिंह ने उसे ढांढस बंधाया.

डॉन ने रणवीर के व्यवहार की तारीफ करते हुए लिखा कि वैसे तो रणवीर हर जगह मौजूद रहने के लिए जाने जाते हैं लेकिन इस बार सही वक्त पर सही जगह थे. पाकिस्तानी फैन ने ट्वीटर पर रणवीर के साथ अपना वीडियो पोस्ट किया है.

द गार्डियन ने चेन्नई जल संकट पर छापी रिपोर्ट
द गार्डियन ने पानी की किल्लत से जूझ रहे चेन्नई को प्रमुखता से प्रकाशित किया है. द गार्डियन लिखता है कि चेन्नई में गंभीर जल संकट के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया गया है. द गार्डियन में पानी की किल्लत की वजह से चेन्नई के भीषण हालात पर एक रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए लिखा है कि शहर में पानी की सप्लाई करने वाले चार जलाशयों के सूखने की वजह से स्कूलों और रेस्टोरेंट को बंद करना पड़ा है तो कई आईटी कंपनियों ने लोगों को घर से ही काम करने को कहा है.

द गार्डियन ने शी जिनपिंग की उत्तर कोरिया यात्रा पर किया फोकस
Loading...

ब्रिटेन के अखबार द गार्डियन ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की उत्तरी कोरिया की यात्रा को प्रमुखता से प्रकाशित किया है. द गार्डियन लिखता है कि किम जोंग-उन के परमाणु कार्यक्रम को लेकर बढ़ी दरार को ठीक करने की उम्मीद में 14 साल में चीनी राष्ट्रपति की पहली ऐतिहासिक यात्रा है. द गार्डियन लिखता है कि चीन और उत्तर कोरिया दोनों ही मुल्क अमेरिका के साथ अपनी अपनी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक चीन और उत्तर कोरिया के संबंधों की सत्तरवीं सालगिरह के मौके पर शी की उत्तर कोरिया की यात्रा तय की गई ताकि क्षेत्र में बीजिंग का प्रभाव साबित किया जा सके.

रशिया टुडे में अमेरिकी ड्रोन पर ईरानी हमले की खबर बनी हेडलाइंस
रूस की मीडिया एजेंसी रशिया टुडे ने अमेरिकी ड्रोन विमान को मिसाइल से गिराए जाने के ईरानी दावे को प्रमुखता से प्रकाशित किया है. रशिया टुडे के मुताबिक ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने ईरान की वायुसीमा में घुसे अमेरिका के जासूसी ड्रोन को मार गिराया है. हालांकि अमेरिका ने इन आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया है बल्कि पेंटागन ने ईरान पर आरोप लगाया है कि उसने तेल टैंकरों की निगरानी कर रहे अमेरिकी ड्रोन को मिसाइल से मार गिराने की कोशिश की थी. बहरहाल, ओमान की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हमले के बाद से इलाके में अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है और उसी दरम्यान अमेरिकी ड्रोन को गिराने की कार्रवाई युद्ध को उकसावा दे सकती है.

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 20, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...