यहां कई महीनों बाद खोले गए रेड लाइट एरिया, Kissing पर लगी है रोक

यहां कई महीनों बाद खोले गए रेड लाइट एरिया, Kissing पर लगी है रोक
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नीदरलैंड की बदनाम बस्ती (Red Light Area)के दरवाजे ग्राहकों के लिए फिर से खोल दिए हैं लेकिन सेक्स वर्कर्स (Sex Workeres) की स्वास्थ्य की चिंता करते हुए ग्राहकों के किसिंग (Ban On Kissing) करने पर रोक लगा ​दी गई है.

  • Share this:
एम्सटर्डम. नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम की बदनाम बस्ती (Red Light Area)के दरवाजे ग्राहकों के लिए फिर से खोल दिए हैं लेकिन सेक्स वर्कर्स (Sex Workeres) की स्वास्थ्य की चिंता करते हुए ग्राहकों के किसिंग (Ban On Kissing) करने पर रोक लगा ​दी गई है. कोरोना वायरस से बचने के लिए जिस तरह लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान दूसरे गैर-जरूरी व्यवसायों या कारोबारों की तरह वेश्यालयों को भी बंद कर दिया गया था.

वेश्यालयों को पहले सितंबर से खोलने की थी बात

नीदरलैंद में कोरोना वायरस के संक्रमण की दर में कमी आई है. हालांकि यहां कोरोना से मरने वालों की 6,000 से ज्यादा है. प्रशासन ने वेश्यालयों को सितंबर से दोबारा खोलने की घोषणा की थी लेकिन इसे एक जुलाई से बहाल कर दिया गया है. वेश्यालयों के दोबारा शुरू होते ही इन इलाकों के खूब साफ-सफाई का ध्यान रखा जा रहा है. ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है क्योंकि यह दूसरे धंधों की तरह सामान्य भी नहीं है. इन इलाकों में पहुंचने वाले सभी ग्राहकों में कोविड-19 के संक्रमण के लक्षणों की जांच की जाएगी और उन्हें किसिंग करने की आजादी नहीं होगी.



'हम खुश हैं कि हमारी आमदनी का जरिया फिर से बहाल हो गया'
रेड लाइट युनाटेड ट्रेड यूनियन की चेयरवुमन फैलिसिया एना ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते बंद किए गए वेश्यालयों के दोबारा खोले जाने का स्वागत किया है. उन्होंने गार्जियन अखबार से बातचीत में कहा कि लॉकडाउन के चलते बहुत से सेक्स वर्कर्स को आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ रहा था. अब हम दोबारा काम शुरू होने से खुश हैं क्योंकि हमारी आमदनी का जरिया फिर से बहाल हो गया है. एना ने कहा कि शहर की सभी सेक्स वर्कर्स सरकार के स्वास्थ्य संबंधी दिशा निर्देशों का पूरी तरह पालन कर रही हैं. वे साफ-सफाई और बचाव के उपायों को लेकर अतिरिक्त सतर्क हैं.

ये भी पढ़ें: 7 लाख भारतीयों की नौकरी पर संकट, कुवैत में बना विदेशी श्रमिकों को कम करने का कानून

ब्रिटेन में खुले पब और बार, शराब पीकर लोगों ने किया हंगामा, चार गिरफ्तार

इस इलाके में काम करने वाली महिला ने कहा कि हम सेक्स के जरिए होने वाली बीमारी एचआईवी/ एड्स् जैसी बीमारी से खुद को बचाने के लिए जूझते हैं, जो कोरोना वायरस के संक्रमण की तुलना में कहीं अधिक खतरनाक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज