टॉफी-चॉकलेट नहीं मिली तो शरणार्थियों ने फूंक डाले कैंप!

टॉफी-चॉकलेट नहीं मिली तो शरणार्थियों ने फूंक डाले कैंप!
Photo - getty images

जर्मनी की हैरान कर देने वाली इस घटना में शरणार्थियों ने अपने ही कैंप को बस इसलिए आग के हवाले कर दिया, क्योंकि उनकी शिकायत थी कि उन्हें कैंप में टॉफी और चॉकलेट नहीं दी जी रही थी।

  • News18India
  • Last Updated: November 24, 2016, 6:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। मौजूदा दौर में दुनिया के कई हिस्सों में सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है शरणार्थी संकट। इसी संकट के चलते आए दिन कुछ देशों से अजीबो-गरीब घटनाएं सामने आ रही हैं। हाल ही में जर्मनी और सीरिया में ऐसी ही अलग-अलग घटनाएं हुईं।

जर्मनी की हैरान कर देने वाली इस घटना में शरणार्थियों ने अपने ही कैंप को बस इसलिए आग के हवाले कर दिया, क्योंकि उनकी शिकायत थी कि उन्हें कैंप में टॉफी और चॉकलेट नहीं दी जी रही थी। जर्मनी के रेड क्रॉस ने बताया कि कैंप में इन इंतजामों को लेकर लोगों की नाराज़गी इतनी बढ़ गई कि उन्होंने कैंप के हॉल को फूंक दिया। इसके चलते पूरा कैंप खाक हो गया।

एक अमुमान के अनुसार इस घटना में करीब 73 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ और 7 लोग घायल हो गए।



उधर सीरिया से आ रहे सैंकड़ों शरणार्थियों से भरी एक नाव समुंदर में एक बड़े जहाज़ के पास पहुंची और लोगों ने बारी बारी समुंद्र में छलांग लगानी शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक वो बड़ा जहाज़ न कोस्ट गार्ड का था और ना ही लोगों को बचाने के लिए भेजा गया जहाज था। दरअसल, भूमध्य सागर में इटली का ये निजी जहाज़ मछली पकड़ने के लिए निकला था।
लेकिन शरणाथियों से भरी नाव में लोगों को गलतफहमी हुई कि ये जहाज़ कोस्ट गार्ड का है, जो उन्हें बचा लेगा। पानी में कूदने के कारण कई शरणार्थी मारे गए।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज