अनुच्छेद 370 के प्रावधान निरस्त करना भारत का आंतरिक मामला है: बांग्लादेश

बांग्लादेश ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) का विशेष राज्य का दर्जा हटाया जाना भारत का आंतरिक मामला है और क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता बनाए रखना सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए.

भाषा
Updated: August 21, 2019, 3:40 PM IST
अनुच्छेद 370 के प्रावधान निरस्त करना भारत का आंतरिक मामला है: बांग्लादेश
अनुच्छेद 370 को बांग्लादेश ने बताया भारत का आंतरिक मामला
भाषा
Updated: August 21, 2019, 3:40 PM IST
बांग्लादेश (Bangladesh) ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) का विशेष राज्य का दर्जा हटाया जाना भारत का आंतरिक मामला है और क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता बनाए रखना सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए. विदेश मंत्री एस जयशंकर (Subrahmanyam Jaishankar) ने बांग्लादेश की यात्रा की थी और प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) समेत शीर्ष नेतृत्व से बात की थी जिसके एक दिन बाद मंगलवार को इस मामले पर इस पड़ोसी देश की यह प्रतिक्रिया आई.

बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बांग्लादेश यह मानता है कि अनुच्छेद 370 हटाने का भारत सरकार का फैसला भारत का आंतरिक मामला है. उसने कहा कि बांग्लादेश ने हमेशा वकालत की है कि क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता बनाए रखना और विकास करना सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : कश्मीर, भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मामला: फ्रांस

नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त कर दिया है और उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया है जिसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ गई है.

नयी दिल्ली ने अमेरिका को स्पष्ट कर दिया है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला है और इसमें तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है.

इसे भी पढ़ें : अब अमेरिकी आयेंगे प्रतिबंधों के घेरे में - विदेश मंत्री माइक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 3:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...