लाइव टीवी

चीन के बाद भारत से सबसे ज्‍यादा छात्र अमेरिका गए, 2018-19 में गए दो लाख से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 8:39 PM IST
चीन के बाद भारत से सबसे ज्‍यादा छात्र अमेरिका गए, 2018-19 में गए दो लाख से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स
साल 2018-19 के दौरान दुनियाभर से अमेरिका पहुंचे कुल विदेशी छात्रों में 50 फीसदी भारत और चीन से हैं.

वर्ष 2018-19 में भारत (India) से 2.02 लाख छात्रों ने अमेरिका (US) के विश्‍वविद्यालयों (Universities) में एडमिशन लिया. इससे ज्‍यादा चीन (China) के 3.69 लाख स्‍टूडेंट्स अमेरिका गए. साल 2018 में विदेशी छात्रों का अमेरिकी अर्थव्यवस्था (US Economy) में 44.7 बिलियन डॉलर (करीब 3 लाख 20 हजार करोड़ रु.) का योगदान रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 8:39 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. दुनिया भर के स्‍टूडेंट्स में अमेरिकी विश्‍वविद्यालयों (American Universities) में एडमिशन लेने का क्रेज सिर चढ़कर बोलता है. भारत (India) भी इस मामले में किसी से पीछे नहीं है. भारत से 2018-19 में दो लाख से ज्यादा छात्र (Students) पढ़ने के लिए अमेरिका गए. इस मामले में चीन (China) भारत से आगे है. चीन से 3,69,548 छात्रों ने अमेरिका के विभिन्‍न विश्‍वविद्यालयों में एडमिशन लिया.

रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में चीन लगातार 10वें साल सबसे ऊपर है. 2019 ओपन डोर्स रिपोर्ट ऑन इंटरनेशनल एजुकेशनल एक्सचेंज (Open Doors Report on International Educational Exchange) ने सोमवार को कहा कि अमेरिका में विदेशी छात्रों (Foreign students) की संख्या 2018-19 शैक्षणिक वर्ष (Academic Year) में अब तक की सबसे ज्यादा है. लगातार चौथे साल यह संख्या दस लाख से ज्यादा है.

अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था में विदेशी छात्रों का योगदान 44.7 बिलियन डॉलर रहा
अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय (US Department of Commerce) के आंकड़ों के मुताबिक, साल 2018 के दौरान अमेरिकी अर्थव्यवस्था (US Economy) में विदेशी छात्रों का योगदान 44.7 बिलियन डॉलर (करीब 3.20 लाख करोड़ रुपये) का रहा था. यह पिछले साल से 5.5 फीसदी ज्यादा रहा. रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2018-19 में कुल 10,95,299 छात्रों ने अमेरिका की अलग-अलग यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया. इनमें भारत और चीन के अलावा दक्षिण कोरिया के 52,250 और सऊदी अरब के 37,080 छात्र भी शामिल हैं. इस दौरान दुनियाभर से अमेरिका पहुंचे कुल विदेशी छात्रों में 50 फीसदी भारत और चीन से हैं. शैक्षिक और सांस्कृतिक मामलों के राज्य सचिव की सहायक मैरी रोएसे ने कहा कि हम अमेरिका में अध्ययन कर रहे विदेशी छात्रों की संख्या में वृद्धि हो रही है. हम चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा विदेशी छात्र यहां आए.

तीन लाख से ज्‍यादा अमेरिकी स्‍टूडेंट्स 2018-19 में पढ़ाई के लिए यूरोप गए
साल 2018-19 में अमेरिका में 51.6 फीसदी अंतरराष्ट्रीय छात्रों ने साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, मैथमेटिक्स के क्षेत्र में पढ़ाई की. मैथ्स और कंप्यूटर साइंस पाठ्यक्रमों में अंतरराष्ट्रीय छात्रों की संख्या 9.4 फीसदी बढ़ी है. साल 2018-19 में विदेशी छात्रों ने सबसे ज्यादा इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए एडमिशन लिया. अमेरिकी संस्थान (US Institutions) में 2018-19 में पहली बार दाखिला लेने वाले छात्रों (First Time Students) की संख्या में 0.9 फीसदी की कमी दर्ज की गई है. वहीं, 2017-18 में 3,41,751 अमेरिकी छात्र (American Students) विदेश पढ़ने गए. रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी छात्रों के लिए यूरोप (Europe) सबसे पसंदीदा जगह रहा. ब्रिटेन, इटली, स्पेन, फ्रांस और जर्मनी में सबसे ज्यादा अमेरिकी छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें:JNU छात्रों के प्रदर्शन के कारण दिल्‍ली के इन इलाकों में लगा जाम, बचकर निकलें

राजपक्षे परिवार की वापसी भारत और श्रीलंकाई तमिलों के लिए चिंता का सबब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 8:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर