Home /News /world /

रिपोर्ट : कोरोना की वजह से पाकिस्‍तान में एक करोड़, 85 लाख लोग बेरोजगार होंगे

रिपोर्ट : कोरोना की वजह से पाकिस्‍तान में एक करोड़, 85 लाख लोग बेरोजगार होंगे

चीन ने फिर निभाई पाकिस्तान से दोस्ती, कोरोना के बीच पाकिस्तान के लिए अच्छी खबर

चीन ने फिर निभाई पाकिस्तान से दोस्ती, कोरोना के बीच पाकिस्तान के लिए अच्छी खबर

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस संकट के नतीजे में सबसे ज्‍यादा असर रिटेल कारोबार पर होगा. खुदरा व्यापार में अधिकांश नौकरियों को समाप्त कर दिया जाएगा.

    इस्‍लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से आने वाले समय में बेरोजगारी का संकट पैदा होगा. यह बात एक रिपोर्ट के हवाले से कही गई है. अर्थशास्त्रियों ने कहा है कि कोरोना वायरस की वजह से लोग बेरोजगार हो रहे हैं और पाकिस्तान में निर्यात को नुकसान हो रहा है.

    पाकिस्‍तान के केंद्रीय योजना मंत्रालय से संबंधित अनुसंधान संस्थान, पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स के तीन शोधकर्ताओं द्वारा संकलित एक खास रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस की वजह से लगाए गए प्रतिबंध की वजह से आर्थिक मंदी और बेरोजगारी शुरुआत में तीन चरणों में असर करेगी. वरिष्ठ आर्थिक शोधकर्ता महमूद खालिद, मुहम्मद नासिर और नसीम फराज की इस रिपोर्ट के मुताबिक 'अगर पाकिस्‍तान में व्यावसायिक जीवन पूरी तरह से बंद रहता है, तो इससे एक करोड़, 85 लाख, 30 हजार लोग बेरोजगार हो जाएंगे.'

    मजदूरी पेशा लोग बुरी तरह प्रभावित होंगे
    रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस संकट के नतीजे में सबसे ज्‍यादा असर रिटेल कारोबार पर होगा. खुदरा व्यापार में अधिकांश नौकरियों को समाप्त कर दिया जाएगा. वहीं कृषि, उत्पाद, होटल और रेस्टोरेंट, मछली पालन और दैनिक आधार पर काम करने वाले या ठेले लगाने वाले लोग बुरी तरह प्रभावित होंगे. वरिष्ठ शोधकर्ता महमूद खालिद ने 'उर्दू न्‍यूज' को बताया कि पाकिस्‍तान सरकार के लिए इस संकट से निपटना एक मुश्किल काम है, क्योंकि अगर सरकार कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने के लिए लॉकडाउन नहीं करती है, तो कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का ज्‍यादा बोझ स्वास्थ्य क्षेत्र पर पड़ेगा, जो फिलहाल इसे सहन करने में असमर्थ है.

    वहीं फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के महासचिव डॉ. बिलाल थहीम ने बताया कि 'यूरोप और अमेरिका में जहां पाकिस्तानी उत्पाद बाजार हैं, वहां का संकट पाकिस्तान की तुलना में कहीं अधिक गंभीर है. अगर सरकार स्थानीय स्‍तर पर उद्योग और व्यापार को कोई सहारा देने की कोशिश करती भी है तो भी पाकिस्तान का निर्यात बुरी तरह प्रभावित होगा, क्योंकि विदेशों से ऑर्डर नहीं मिलेंगे.' उन्होंने आगे कहा, 'पाकिस्तान को इस संकट से उबरने में महीनों लग जाएंगे.'

    वहीं एफपीसीसीआई के अध्यक्ष मियां अंजुम निसार ने कहा कि मौजूदा संकट में केवल खाद्य उद्योग बचता नजर आ रहा है. वहीं आर्थिक संकट पर टिप्पणी करते हुए वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, 'सरकार ने नुकसान का शुरुआती अनुमान लगाया है और इसे देखते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक राहत पैकेज की घोषणा की है.' पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स की रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि लोगों की नौकरियां बचाने के लिए उद्योगों और व्यवसायों को सस्ते कर्ज दिए जाएं.

    कोरोना संकट निर्यात की दिशा में एक अच्‍छा मौका
    वहीं एफपीसीसीआई के महासचिव बिलाल थहीम ने कहा, 'कोरोना संकट का पाकिस्तानी निर्यात पर सकारात्मक प्रभाव भी पड़ेगा, क्योंकि दुनिया भर में चिकित्सा आपूर्ति बढ़ जाएगी. पाकिस्‍तान के लिए यह बेहतरीन मौका है कि सर्जिकल उत्पादों, मास्क और मेडिकल गाउन के अपने निर्यात को बढ़ाए.'

    ये भी पढ़ें :- 

    पाकिस्‍तान में कोरोना का कहर : प्रभावित लोगों की संख्‍या 1227, 9 की मौत

    पाकिस्तान सेना का क्रूर चेहरा : कोरोना मरीजों को जबरन भेज रही PoK और गिलगित
    undefined

    Tags: Corona Virus, Pakistan, Unemployment

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर