लाइव टीवी

रिपोर्ट: रूस ने सीरिया के विद्रोहियों के इलाके में चार अस्पतालों को बनाया था निशाना

भाषा
Updated: October 14, 2019, 12:14 PM IST
रिपोर्ट: रूस ने सीरिया के विद्रोहियों के इलाके में चार अस्पतालों को बनाया था निशाना
रसियन फाइटर्स प्लेन ने सीरिया में विद्रोहियों के इलाके में अस्पतालों पर हमला किय.

रूस (Russia) के युद्धक विमानों (fighter planes) ने दूर कफर नबल सर्जिकल अस्पाल पर कई बम गिराए. इसके 12 घंटे के भीतर ही कफर जिता केव अस्पताल और अल-अमल ऑर्थोपेडिक अस्पताल को भी निशाना बनाया.

  • Share this:
वाशिंगटन. रूस (Russia) के युद्धक विमानों (fighter planes) ने कुछ महीने पहले सीरिया (Syria) में विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्र में 12 घंटे के भीतर चार अस्पतालों पर बम बरसाए थे. अस्पतालों में रूसी हमले का दावा न्यूयॉर्क टाइम्स की एक खबर के हवावे से किया गया है. खबर के अनुसार नबाद अल-हयात सर्जिकल अस्पताल पर हमले की आशंका के चलते कर्मचारियों ने उसे तीन दिन पहले ही खाली कर दिया था. 12 घंटे के भीतर किए इन हमलों की शुरुआत पांच मई को हुई थी.

रूस के ग्राउंड कंट्रोलर ने पायलट को अस्पताल की सटीक जानकारी दी थी. उसी ने हमले करने का निर्देश भी दिया था, जिसके बाद पायलट ने बमबारी की. इससे कुछ किलोमीटर दूर कफर नबल सर्जिकल अस्पाल पर भी थोड़ी देर बाद कई बम गिराए गए. इसके अलावा रूस के युद्धक विमानों ने उन 12 घंटे के भीतर कफर जिता केव अस्पताल और अल-अमल ऑर्थोपेडिक अस्पताल को भी निशाना बनाया.

रूसी विमानों ने अस्पतालों पर गिराए बम.


अस्पतालों ने हवाई हमले से बचने के लिए संयुक्त राष्ट्र से किया था संपर्क

बता दें कि इन चारों अस्पतालों ने हवाई हमले से बचने के लिए संयुक्त राष्ट्र से भी संपर्क किया था. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने अस्पतालों पर हुए हमलों को लेकर पिछले महीने आंतरिक जांच शुरू करने की घोषणा भी की थी. गौरतलब है कि रविवार को तुर्की एयरफोर्स ने उत्तरी सीरिया के कुर्द प्रशासित क्षेत्रों में बम्बारी की है. तुर्की के इस हमले में कम से कम 26 नागरिकों की मौत हो गई. सीरियाई मानवाधिकार पर्यवेक्षक ने बताया है कि मरने वालों में से दस लोग हवाई हमले में मारे गए हैं.

हवाई हमले से बचने के लिए अस्पतालों ने यूएन से गुहार लगाई थी.


बता दें कि अमेरिका ने हाल ही में उत्तरी सीरिया से अपनी फौज हटाने का फैसला किया है. यह इलाका विश्व का सबसे बड़ा कुर्द इलाका है. यहां करीब 30 मिलियन कुर्द रहते हैं. कुर्दों को अमूमन अमेरिका के खास सहयोगी के तौर पर देखा जाता है. अमेरिका के इस कदम से अब तुर्की के लिए कुर्दों पर आक्रमण करना शुरू कर दिया है. तुर्की और कुर्द लड़ाकों के बीच दशकों पुरानी रंजिश है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

चीन को विभाजित करने की किसी भी कोशिश को कुचल दिया जाएगा: शी जिनपिंग

तुर्की के हमले में सीरिया के 26 नागरिकों की मौत, कुर्दों के इलाके पर हुआ हमला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 12:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...