Home /News /world /

स्पेन में 107 साल की बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात, अस्पताल से हुई घर वापसी

स्पेन में 107 साल की बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात, अस्पताल से हुई घर वापसी

स्पेन में अब कोरोनावायरस से मौत के मामलों में कमी देखी जा रही है.
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

स्पेन में अब कोरोनावायरस से मौत के मामलों में कमी देखी जा रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

‘जाको राखे साइयां मार सके न कोय’ की कहावत को चरितार्थ करते हुए एना डेल वैले ने उम्र के ऐसे पड़ाव पर ज़िंदगी की जंग जीती जहां किसी गंभीर बीमारी से वापसी की उम्मीद बहुत कम होती है.

    कोरोना महामारी (Corona Outbreak) ने दुनिया में अमेरिका (America) के बाद सबसे ज्यादा कहर यूरोप (Europe) में बरपाया. यूरोप में इटली के बाद सबसे ज्यादा मौतें स्पेन (Spain)  में हुईं. स्पेन में अब तक कोरोनावायरस 23 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. मौत के इन आंकड़ों में सभी उम्र के मरीज़ शामिल हैं. यूरोप में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के बुजुर्ग शिकार हुए हैं. लेकिन स्पेन की एक सबसे उम्रदराज़ महिला ने कोरोना को मात देकर दुनिया का हौसला बढ़ाने का काम किया है. 107 साल की बुजुर्ग महिला के सामने कोरोनावायरस पस्त पड़ गया. इससे पहले इसी बुजुर्ग महिला ने स्पेनिश फ्लू को भी मात दी थी.

    एना डेल वैले कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने वाली सबसे उम्रदराज़ महिला बन चुकी हैं. एना का जन्म अक्टूबर 1913 में हुआ था. छह महीने बाद ही ऐना 107 साल की हो जाएंगी और ये जन्मदिन उनके लिए इसलिए बहुत ख़ास होगा क्योंकि उन्होंने दुनिया की उस बीमारी को मात दी है जिसकी दवा दुनिया के पास नहीं है.

    ‘जाको राखे साइयां मार सके न कोय’ की कहावत को चरितार्थ करते हुए एना डेल वैले ने उम्र के ऐसे पड़ाव पर ज़िंदगी की जंग जीती जहां किसी गंभीर बीमारी से वापसी की उम्मीद बहुत कम होती है.

    स्पेन के अखबार ओलिव प्रेस के मुताबिक इस करिश्मे को अंजाम देने से 102 साल पहले एना डेल वैले ने 1918 में स्पेनिश फ्लू को भी हराया था. उस वक्त उनकी उम्र महज़ 5 साल की थी. उस दौरान दुनिया में स्पेनिश फ्लू फैला हुआ था. स्पेनिश फ्लू ने तकरीबन 3 साल तक दुनिया में कहर बरपाया और 50 करोड़ लोगों को संक्रमित किया था. अब 102 साल बाद दुनिया में 2 लाख से ज्यादा जानें लेने वाला कोरोनावायरस एना डेल वैले की हिम्मत के आगे हार गया. एना डैल वैले के साथ 60 अन्य लोग भी कोरोना संक्रमित हुए थे.

    एना डैल वैल के कोरोना से चमत्कारिक तरीके से ठीक होने पर घर में खुशी का माहौल है. ऐना की बहू पाकुई सांचेज ने कहा कि डॉक्टरों ने उनकी अच्छे से देखभाल की और अब वो पूरी तरह ठीक हो चुकी हैं. उन्होंने बताया कि एना खाना खुद से ही खाती हैं और वाकर की मदद से चलती भी हैं.

    अब एना डैल वैले उन खास लोगों में शामिल हो गई हैं जिन्होंने सौ साल की उम्र के बावजूद कोरोना को हरा कर वापसी की.

    Tags: Corona patients

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर