Home /News /world /

नाइजीरिया: मस्जिद के अंदर फायरिंग, नमाज पढ़ने आए 18 लोगों की मौत

नाइजीरिया: मस्जिद के अंदर फायरिंग, नमाज पढ़ने आए 18 लोगों की मौत

 जातीय हिंसा में इस साल अब तक सैकड़ों लोगों की जान गई है. (AP)

जातीय हिंसा में इस साल अब तक सैकड़ों लोगों की जान गई है. (AP)

यह हमला देश के नाइजीरिया के माशेगू स्थानीय सरकारी क्षेत्र के माजकुका गांव में हुआ. हमलावरों के जातीय फुलानी खानाबदोश चरवाहा समुदाय से होने को संदेह है, जो घटना के बाद मौके से फरार हो गए.

    लागोस. अफ्रीकी देश नाइजीरिया (Nigeria) के उत्तरी हिस्से में सोमवार को सुबह की नमाज के दौरान एक मस्जिद (Mosque Attack)पर बंदूकधारियों ने हमला कर दिया. फायरिंग में नमाज पढ़ने आए 18 लोगों की मौत हो गई. स्थानीय अधिकारियों और पुलिस ने यह जानकारी दी है. यह हमला देश के नाइजीरिया के माशेगू स्थानीय सरकारी क्षेत्र के माजकुका गांव में हुआ. हमलावरों के जातीय फुलानी खानाबदोश चरवाहा समुदाय से होने को संदेह है, जो घटना के बाद मौके से फरार हो गए.

    इसी तरह की जातीय हिंसा में इस साल अब तक सैकड़ों लोगों की जान गई है. जातीय हिंसा की ये घटनाएं देश में पानी और जमीन के मुद्दे को लेकर दशकों से चल रहे संघर्ष का नतीजा हैं. संघर्ष का शिकार बने फुलानी समुदाय के कुछ लोगों ने स्थानीय होसा कृषक समुदाय के लोगों के खिलाफ हथियार उठा लिए हैं. माशेगू स्थानीय सरकारी क्षेत्र के अध्यक्ष अल्हासन इसाह ने ‘एपी’ से कहा, ‘हमलावरों ने मस्जिद को चारों ओर से घेर लिया और गोलीबारी करने लगे.’ उन्होंने बताया कि हमले में चार अन्य लोग घायल भी हुए हैं.

    धार्मिक पहचान मिटा रहा चीन, शिनिंग में डोंगगुआन मस्जिद का गुंबद तोड़ा

    नाइजीरिया के पुलिस आयुक्त कुर्यस ने सोमवार को बताया कि हमला ग्रामीणों और फुलानी चरवाहा समुदाय के बीच संघर्ष से जुड़ा है. नाइजीरिया पर हुए इस ताजा हमले से पता चलता है कि देश की सुरक्षा स्थिति कितनी खराब हो गई है. नाइजीरिया के उत्तरपश्चिमी और मध्य क्षेत्र के अधिकतर राज्यों का यही हाल है. खासतौर पर उत्तरपश्चिमी क्षेत्र में हिंसा में काफी बढ़ोतरी देखी गई है. हिंसा से प्रभावित अधिकतर समुदाय के लोग दुर्गम स्थानों पर रहते हैं. इन लोगों के लिए माजाकुका जैसे इलाकों में आना मुश्किल है, जो राज्य की राजधानी से करीब 270 किलोमीटर (167 मील) की दूरी पर स्थित है.

    सूडान में सेना के तख्तापलट के बाद अमेरिका ने रोकी 70 करोड़ डॉलर मदद

    बड़ी संख्या में आते हैं हमलावर
    बंदूकधारियों की संख्या अक्सर समुदायों की सुरक्षा करने वाले कर्मियों से अधिक होती है. जिसके चलते बंदूकधारी आराम में अपराध को अंजाम तक पहुंचा देते हैं. घटना की सूचना मिलने के बाद जब तक पुलिस आती है, उससे पहले ही अपराधी फरार हो जाते हैं. इससे करीब एक हफ्ते पहले उत्तरपश्चिमी सोकोतो राज्य में हमलावरों ने एक ग्रामीण इलाके पर हमला कर दिया था. वो वहां 12 घंटे तक मौजूद भी रहे. इस घटना में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई थी. इससे भी बड़ी संख्या में लोगों को यहां से भागना पड़ा. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: Nigeria

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर