Home /News /world /

इस देश में मिला सबसे प्राचीन मानव जीवाश्म, खुलेगा 230000 साल पुराना रहस्य!

इस देश में मिला सबसे प्राचीन मानव जीवाश्म, खुलेगा 230000 साल पुराना रहस्य!

शोधकर्ताओं की टीम ने ज्वालामुखीय राख की परतों पर रासायनिक उंगलियों के निशान की उम्र का पता लगाया है, जो तलछट के ऊपर और नीचे मौजूद हैं.

शोधकर्ताओं की टीम ने ज्वालामुखीय राख की परतों पर रासायनिक उंगलियों के निशान की उम्र का पता लगाया है, जो तलछट के ऊपर और नीचे मौजूद हैं.

World oldest Human Fossils: कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के एक नए अध्ययन से पता चलता है कि जीवाश्म संभवत: 2,30,000 साल पहले हुए क्षेत्र में बड़े पैमाने पर ज्वालामुखी विस्फोट से पहले के हैं. शोधकर्ताओं की टीम ने ज्वालामुखीय राख की परतों पर रासायनिक उंगलियों के निशान की उम्र का पता लगाया है, जो तलछट के ऊपर और नीचे मौजूद हैं. यहीं पहली बार जीवाश्मों की खोज की गई थी. शोधकर्ताओं का कहना है कि अध्ययन अभी खत्म नहीं हुआ है.

अधिक पढ़ें ...

    अदीस अबाबा. इथियोपिया (Ethiopia) में खोजे गए प्राचीन मानव जीवाश्म (Human Fossils)2,30,000 साल पुराने हो सकते हैं. एक नए अध्ययन में विशेषज्ञों का यह दावा किया है. इन जीवाश्मों को ओमो आई के नाम से जाना जाता है. जीवाश्मों की खोज 1960 के दशक के आखिर में हुई थी. इन्हें होमो सेपियन्स जीवाश्मों (Shala volcano)के शुरुआती उदाहरणों में से एक माना जा रहा है. अब तक पिछले अध्ययनों में इन्हें 2,00,000 साल से कम उम्र का बताया गया था, लेकिन हालिया रिसर्च ने इसमें एक नया तथ्य जोड़ दिया है.

    कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के एक नए अध्ययन से पता चलता है कि जीवाश्म संभवत: 2,30,000 साल पहले हुए क्षेत्र में बड़े पैमाने पर ज्वालामुखी विस्फोट से पहले के हैं. शोधकर्ताओं की टीम ने ज्वालामुखीय राख की परतों पर रासायनिक उंगलियों के निशान की उम्र का पता लगाया है, जो तलछट के ऊपर और नीचे मौजूद हैं. यहीं पहली बार जीवाश्मों की खोज की गई थी. शोधकर्ताओं का कहना है कि अध्ययन अभी खत्म नहीं हुआ है.

    टोंगा में समुद्र के अंदर ज्वालामुखी फटने से आई सुनामी, देखें फोटोज

    30,000 साल और पीछे गई इंसान की उम्र
    नई रिसर्च ने पूर्वी अफ्रीका में होमो सेपियन्स की उम्र को न्यूनतम उम्र का 30,000 साल पीछे धकेल दिया है। हालांकि भविष्य में होने वाले अध्ययन इस उम्र को और भी कम कर सकते हैं. पुरातत्वविदों ने 2017 में दुनिया के सबसे प्राचीन होमो सेपियन्स जीवाश्मों की खोज की घोषणा की थी. यह मोरक्को के जेबेल इरहौद में 3,00,000 साल पुरानी खोपड़ी थी. कई दशकों से वैज्ञानिक पूर्वी अफ्रीका में सबसे पुराने जीवाश्मों की सटीक खोज करने की कोशिश कर रहे हैं.

    उच्च ज्वालामुखीय गतिविधि वाले क्षेत्र में मिले जीवाश्म
    ओमो आई अवशेष दक्षिण-पश्चिमी इथियोपिया में ओमो किबिश फॉर्मेशन में पाए गए थे. यह क्षेत्र उच्च ज्वालामुखीय गतिविधि वाला क्षेत्र है. यह प्रारंभिक मानव कलाकृतियों का भी एक समृद्ध स्रोत है. रिसर्च पेपर के प्रमुख लेखक कैम्ब्रिज के भूगोल विभाग के डॉ. सेलाइन विडाल ने कहा ज्वालामुखीय राख की एक मोटी परत के नीचे जीवाश्म एक क्रम में पाए गए थे.

    इस देश में गिरा पृथ्वी का सबसे बड़ा उल्कापिंड, वजन इतना कि कोई नहीं हिला पाया

    महीन राख में खोजना था बेहद मुश्किल
    आज तक कोई इन्हें इसलिए नहीं खोज पाया, क्योंकि राख बहुत महीन है. पिछले साल, चीन में शोधकर्ताओं ने एक प्राचीन खोपड़ी की खोज की जो मानव की पूरी तरह से नई प्रजाति की थी. वास्तव में यह 1933 में हर्बिन में पाई गई थी और 2021 में वैज्ञानिकों ने इस पर ध्यान दिया था, जिसका उपनाम ‘ड्रैगन मैन’ रखा गया था. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    Tags: Africa

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर