होम /न्यूज /दुनिया /COP26 समिट में हिस्सा लेने प्राइवेट जेट से ग्लासगो पहुंचे जेफ बेजोस, हो गए ट्रोल

COP26 समिट में हिस्सा लेने प्राइवेट जेट से ग्लासगो पहुंचे जेफ बेजोस, हो गए ट्रोल

ग्लासगो में अमेज़ॉन के संस्थापक जेफ बेजोस की मुलाकात रविवार को वेल्स के प्रिंस चार्ल्स से हुई. (AP)

ग्लासगो में अमेज़ॉन के संस्थापक जेफ बेजोस की मुलाकात रविवार को वेल्स के प्रिंस चार्ल्स से हुई. (AP)

अमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस (Amazon founder Jeff Bezos) के पास अपना जेट है. यह (गल्फस्ट्रीम G-65OER) दुनिया के सबसे तेज ...अधिक पढ़ें

    ग्लासगो. जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर चर्चा करने के लिए स्कॉटलैंड के ग्लासगो (Glasgow, Scotland) में COP26 समिट हुआ. इसमें दुनियाभर के नेता पहुंचे. अमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस (Amazon founder Jeff Bezos)भी इस समिट में हिस्सा लेने के लिए अपने प्राइवेट जेट से ग्लासगो पहुंचे. बेजोस के साथ उनकी गर्लफ्रेंड भी साथ थीं. सवाल ये है कि जलवायु परिवर्तन पर चर्चा करने के लिए पहुंच रहे वर्ल्ड लीडर्स खुद ही प्राइवेट जेट के जरिए कार्बन उत्सर्जन कर रहे हैं. जेफ बेजोस से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) को लेकर भी ऐसी खबरें आई थी.

    सप्ताहांत में हुए COP26 शिखर सम्मेलन के तमाम नेता अपने प्राइवेट जेट से ही लिए ग्लासगो पहुंचे. इसमें जेफ बेजोस भी शामिल थे, जिन्होंने बार-बार दावा किया है कि जलवायु परिवर्तन पृथ्वी के लिए सबसे बड़ा खतरा है. बेजोस के जेट की कीमत करीब 65 मिलियन डॉलर आंकी गई है.

    COP26 जलवायु सम्मेलन में PM नरेंद्र मोदी और बोरिस जॉनसन के बीच खास मुलाकात

    ग्लासगो में अमेज़ॉन के संस्थापक जेफ बेजोस की मुलाकात रविवार को वेल्स के प्रिंस चार्ल्स से हुई. इस दौरान दोनों ने जलवायु परिवर्तन से लड़ने के महत्व पर चर्चा की.

    jeff bezoz 1

    बेजोस का प्राइवेट जेट दुनिया के सबसे तेज प्राइवेट जेट्स में से एक है. इसकी कीमत करीब 65 मिलियन डॉलर है.

    बेजोस ने ट्वीट किया, ‘प्रिंस ऑफ वेल्स जलवायु परिवर्तन से लड़ने और हमारी खूबसूरत दुनिया की रक्षा करने में सबसे अधिक समय से शामिल रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमें #COP26 से पहले इन महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने का मौका मिला है. हमारी दुनिया को ठीक करने के समाधान की तलाश में @BezosEarthFund कैसे मदद कर सकता है.’

    इस बीच सोशल मीडिया पर आलोचकों ने क्लाइमेट चेंज समिट में जाने के लिए प्राइवेट जेट के इस्तेमाल करने पर नेताओं की आलोचना की है.

    बाइडन के काफिले ने 1 लाख टन का किया कार्बन उत्सर्जन
    वहीं, वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्लोबल वॉर्मिंग पर बात करने पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के काफिले ने यूरोप दौरे में लगभग 1 लाख टन (2.2 मिलियन टन) कार्बन का उत्सर्जन किया है. जिसके बाद अमेरिका सहित पूरी दुनिया के पर्यावरण विशेषज्ञ जो बाइडन की आलोचना कर रहे हैं. वेटिकन सिटी में पोप फ्रांसिस से मिलने पहुंचे जो बाइडन के काफिल में 85 से ज्यादा गाड़ियां शामिल थीं.

    COP26: जलवायु परिवर्तन पर PM नरेंद्र मोदी ने शेयर किया बड़ा प्लान, 2070 तक कार्बन उत्सर्जन शून्य पर ले आएगा भारत

    3 किमी में एक किग्रा कार्बन उत्सर्जित करते हैं ये विमान
    जो बाइडन के हवाई काफिले में मोडिफाइड बोइंग 747 विमान शामिल हैं. इसे एयरफोर्स वन के नाम से भी जाना जाता है. जब अमेरिकी राष्ट्रपति एयरफोर्स वन पर सवार होकर किसी दूसरे देश की यात्रा करते हैं, तब दो विशाल सी -17 ग्लोबमास्टर विमान कारों और हेलीकॉप्टरों को संबंधित देश में पहुंचाते हैं. एयरफोर्स वन सहित बाकी के सभी एयरक्राफ्ट औसतन 54 पाउंड कार्बन प्रति मील उत्सर्जित करते हैं. अपनी यूरोप यात्रा के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति के 10,000 मील की दूरी हवाई रास्ते से तय करने का कार्यक्रम है. बाकी का रास्ता वो अपनी कार से तय करेंगे.

    Tags: Amazon, Amazon.com Inc, Jeff Bezos

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें