• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • Canada Elections: क्या कनाडा की सत्ता में वापसी कर पाएंगे ट्रूडो, जानें क्या हैं चुनावी मुद्दे

Canada Elections: क्या कनाडा की सत्ता में वापसी कर पाएंगे ट्रूडो, जानें क्या हैं चुनावी मुद्दे

कनाडा के लिबरल प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) के लिए बहुत कुछ दांव पर है, जिनकी लोकप्रियता में भारी गिरावट आई है.

कनाडा के लिबरल प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) के लिए बहुत कुछ दांव पर है, जिनकी लोकप्रियता में भारी गिरावट आई है.

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau)ने अपनी 'वामपंथी-केंद्र' सरकार को पूर्ण बहुमत दिलाने के लिए 2 साल पहले ही चुनाव कराने का ऐलान कर दिया, लेकिन माना जा रहा है कि 2019 में हुए चुनाव से भी कम सीट जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को मिल सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    टोरंटो. कनाडा में मतदाता (Canada Election) देश की 44वीं संसद का चुनाव करने के लिए सोमवार को मतदान करने जा रहे हैं. कनाडा के लिबरल प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) के लिए बहुत कुछ दांव पर है, जिनकी लोकप्रियता में भारी गिरावट आई है. उन्हें कंजर्वेटिव नेता एरिन ओ’टोल ने बड़ी मुसीबत में डाल रखा है. चुनाव पूर्व तमाम सर्वे में एरिन ओ’टोल और जस्टिन ट्रूडो के बीच कांटे की टक्कर दिखायी गयी है. हर सर्वे में जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को अपने प्रतिद्वंद्वी के मुकाबले पिछड़ता दिखाया गया है. लिहाजा ऐसी संभावना है कि इस बार कनाडा में दक्षिणपंथी पार्टी सत्ता में आ सकती है.

    कनाडा सरकार के आंकड़ों के अनुसार, इस साल के आम चुनाव में 2 करोड़ 70 लाख से ज्यादा लोग चुनाव में हिस्सा लेने वाले हैं. जिनमें करीब 57 लाख लोग पहले ही मतपत्र से वोट डाल चुके हैं. चुनाव पूर्व सर्वेक्षण के अनुसार, न तो लिबरल्स और न ही दक्षिणपंथी पार्टियों के पास बहुमत के लिए आवश्यक 38% जनता का समर्थन हासिल होने की संभावना है. प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने पूर्ण बहुमत हासिल करने के लिए देश में समय पूर्व चुनाव कराने का ऐलान कर दिया था, लेकिन चुनावी सर्वेक्षणों में पाया गया है कि कोविड-19 संकट और अफगानिस्तान मुद्दे को लेकर जस्टिन ट्रूडो सरकार के प्रति लोगों की नाराजगी है.

    न्‍यूयॉर्क में आमने-सामने होंगे भारत-पाक के विदेश मंत्री, 25 को होगी सार्क बैठक

    प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपनी ‘वामपंथी-केंद्र’ सरकार को पूर्ण बहुमत दिलाने के लिए 2 साल पहले ही चुनाव कराने का ऐलान कर दिया, लेकिन माना जा रहा है कि 2019 में हुए चुनाव से भी कम सीट जस्टिन ट्रूडो की पार्टी को मिल सकती हैं.

    चुनाव अभी कराने का क्या कारण है?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज