कनाडा सरकार के चैरिटी को दिए विवादित कॉन्‍ट्रैक्‍ट पर PM ट्रूडो ने मांगी माफी, कहा- गलती हो गई

जस्टिन ट्रूडो ने मांगी माफी.
जस्टिन ट्रूडो ने मांगी माफी.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) अपनी सरकार द्वारा एक संगठन को 900 मिलियन कनाडियन डॉलर से अधिक का कॉन्ट्रैक्ट देने के फैसले की जांच का सामना कर रहे हैं.

  • Share this:
ओटावा. कनाडा (Canada) के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Prime Minister justin Trudeau) ने सोमवार को उस चर्चा में शामिल होने के लिए माफी मांगी जिसमें सरकार ने एक चैरिटी को कॉन्‍ट्रैक्‍ट दिया था और बाद में उस चैरिटी की ओर से पीएम ट्रूडो के परिवार को बड़ी रकम का भुगतान किया गया था. सोमवार को जस्टिन ट्रूडो ने कहा, 'मैंने उस चर्चा से खुद को अलग न रखकर बड़ी गलती की है. मैं इसके लिए माफी मांगता हूं.'

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपनी सरकार द्वारा एक संगठन को 900 मिलियन कनाडियन डॉलर (49,58,71,54,800 रुपये) से अधिक का कॉन्ट्रैक्ट देने के फैसले की जांच का सामना कर रहे हैं. इसका प्रमुख कारण यह है कि यह संगठन उनके परिवार से जुड़ा हुआ है. कनाडा के छात्र सेवा अनुदान को एक कार्यक्रम करने के लिए 'वी' चैरिटी (WE Charity) से सम्मानित किया गया.

इस एनजीओ ने यह माना है कि उसकी ओर से प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की मां, भाई और पत्‍नी को 3 लाख कनाडाई डॉलर (करीब 2,26,18,050 रुपये) दिए गए हैं. पीएम ट्रूडो ने भी यह माना है कि संस्‍था के साथ कॉन्‍ट्रैक्‍ट के नेगोसिएशन के लिए वह भी शामिल थे. उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें पता है कि उनकी मां वी चैरिटी के लिए मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य मामलों की वकील के रूप में काम करती हैं, लेकिन उनके पास और अधिक जानकारी नहीं है.



ट्रूडो ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि मेरी मां को विभिन्‍न संस्‍थाओं की ओर से कितनी सैलरी दी जाती है. लेकिन मैं इसके लिए पछतावे में हूं.' ट्रूडो के अलावा वित्‍त मंत्री बिल मोर्नो ने भी इस मामले में माफी मांगी है. उनकी दो बेटियां भी चैरिटी के लिए काम करती हैं. उन्‍होंने भी कॉन्‍ट्रैक्‍ट की चर्चा से खुद को दूर न रखने के लिए माफी मांगी.



वहीं वी चैरिटी और संघीय सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की है कि वे अपनी साझेदारी खत्म कर रहे हैं. वी चैरिटी 130 स्कूलों और कई एजेंसियों के साथ काम करती है और इस संस्था को अप्रैल के अंत में अधिकारियों ने इस कार्यक्रम को चलाने के लिए संपर्क किया था लेकिन बढ़ते विवादों के कारण इस संगठन ने इस कार्यक्रम को वापस लेने का फैसला किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज