जुलाई में इन 5 देशों पर पड़ी कोरोना की सबसे बड़ी मार, भारत भी शामिल

जुलाई में इन 5 देशों पर पड़ी कोरोना की सबसे बड़ी मार, भारत भी शामिल
भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते ही ज रहे हैं.

दुनियाभर में कोविड-19 (Covid-19) के केस बढ़ते चले जा रहे हैं. अमेरिका, ब्राजील समेत 5 देशों में यह बेकाबू सा हो गया है. इनमें भारत (India) भी शामिल है. जुलाई के महज 14 दिन में अमेरिका में 7 लाख और भारत में 3.50 लाख केस बढ़ गए हैं. इसी दौरान ब्राजील में 13 हजार से ज्यादा लोगों की मौतें हो गई हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर दुनियाभर में बढ़ता ही जा रहा है. रोज तकरीबन 2 लाख नए केस आ रहे हैं और 4-5 हजार लोगों की मौत हो रही है. वैसे तो सबसे अधिक केस के मामले में अमेरिका, ब्राजील, भारत, रूस और पेरू पहले पांच स्थान पर हैं. लेकिन इन्हें ही कोरोना से सबसे प्रभावित देश मान लेना समस्या का सरलीकरण होगा. दरअसल, कोरोना समय के साथ अपने शिकार भी बदल रहा है. जैसे अप्रैल या मई में इसका सबसे अधिक कहर यूरोप में था. मई-जून में अमेरिका इसका सबसे बड़ा शिकार बना. जुलाई में इसकी सबसे ज्यादा मार अमेरिका (America) के साथ-साथ ब्राजील, भारत, मैक्सिको और दक्षिण अफ्रीका पर पड़ रही है. रूस, पेरू, चिली, स्पेन, ब्रिटेन सबसे अधिक केस के मामले में टॉप-10 में हैं, लेकिन यहां कोरोना की मार भारत (India) जैसे देशों के मुकाबले कुछ कम है.

वर्ल्डोमीटर के मुताबिक रूस (Russia) में फिलहाल कोरोना के करीब 7.40 लाख केस हैं. लेकिन यह साफ है कि जुलाई में रूस से ज्यादा मार मैक्सिको (Mexico) या दक्षिण अफ्रीका (South Africa) पर पड़ रही है. जबकि, रूस के मुकाबले मैक्सिको (3.05 लाख) और दक्षिण अफ्रीका (2.87 लाख) में कम केस हैं. ऐसे में आपको यह समझना होगा कि जुलाई में कोरोना की वजह से जिन देशाें में सबसे अधिक जानें गईं, उनमें रूस, पेरू, चिली, स्पेन और ब्रिटेन शामिल नहीं हैं. केस बढ़ने की रफ्तार में भी दक्षिण अफ्रीका जैसा देश रूस को पीछे छोड़ रहा है. मैक्सिको ने मौत के मामले में जुलाई में स्पेन और इटली को पीछे छोड़ दिया है. जुलाई के महज 14 दिन में अमेरिका में 7 लाख और भारत में 3.50 लाख केस बढ़ गए हैं.

1. ब्राजील में रोज हो रहीं हजार मौतें
ब्राजील में 30 जून तक कोरोना के 14.08 लाख केस थे, जो अब 19 लाख पहुंच चुके हैं. दक्षिण अमेरिका के इस सबसे बड़े देश में 30 जून तक कोरोना से 59,656 मौतें हुई थीं. मौत का यह आंकड़ा 14 जुलाई को 73 हजार पार कर गया. यानी, ब्राजील में 14 दिन में 13,500 से अधिक मौतें हो चुकी हैं. साफ है कि जुलाई में ब्राजील में रोज तकरीबन एक हजार लोगों की मौत कोरोना से हुई है. यह दुनिया में सबसे अधिक है.
2. अमेरिका में 14 दिन में बढ़े 7.30 लाख केस


अमेरिका में 30 जून तक कोरोना के 27.81 लाख केस थे, जो अब 35.10 लाख हो चुके हैं. जुलाई के महज 14 दिन में अमेरिका में 7.30 लाख केस बढ़ गए हैं. इसी तरह यहां 30 जून तक कोरोना से 1.30 लाख मौतें हुई थीं. मौत का यह आंकड़ा अब 1.38 लाख पार कर गया है. अमेरिका में 14 दिन में 8.60 हजार से अधिक मौतें हो चुकी हैं. यह ब्राजील के बाद सबसे अधिक है.

3. मैक्सिको में 14 दिन में 8.37 हजार मौतें

मैक्सिको में 30 जून तक कोरोना के 2.20 लाख केस थे, जो अब 3.05 लाख हो चुके हैं. यहां 30 जून तक कोरोना से 27.12 हजार मौतें हुई थीं, जो अब 35.49 हजार पार कर गई है. यानी, मैक्सिको में 14 दिन में 8.37 हजार मौतें हो चुकी हैं. यह ब्राजील और अमेरिका के बाद सबसे अधिक है. यहां यह ध्यान देने की बात है कि जुलाई में मैक्सिको में अमेरिका के मुकाबले 6.50 लाख कम केस आए. इसके बावजूद दोनों देशों में मौतें तकरीबन बराबर हुई हैं.

4. भारत में 14 दिन में आए 3.30 लाख केस
भारत में भी तमाम प्रयासों के बावजूद केस बढ़ते ही जा रहे हैं. आलम यह है कि जून में जो केस रोजाना 18-19 हजार आ रहे थे, वे अब 27-28 हजार आ रहे हैं. महज जुलाई के महीने में देश में 3.30 लाख नए केस आ गए हैं. 14 जुलाई की रात तक देश में 9.36 लाख केस हो चुके हैं और 24.31 हजार मौतें हो चुकी हैं. जुलाई में कोरोना के कारण भारत में करीब 7 हजार मौतें हुई हैं. जुलाई में सबसे अधिक केस आने के मामले में भारत दुनिया में तीसरे और मौत के मामले में चौथे नंबर पर है.

5. दक्षिण अफ्रीका में 13 दिन में 1.36 लाख केस
दक्षिण अफ्रीका में 30 जून तक कोरोना के 1.51 लाख केस थे, जो अब 2.87 लाख पहुंच चुके हैं. यह अफ्रीकी महाद्वीप में सबसे ज्यादा है. दक्षिण अफ्रीका में जुलाई शुरू होने से पहले कोरोना से 2,657 मौतें हुई थीं. मौत का यह आंकड़ा 13 जुलाई को 4,172 हो गया. यानी, दक्षिण अफ्रीका में जुलाई में करीब 1.36 लाख नए केस आए और 1500 से ज्यादा मौतें हुईं. दक्षिण अफ्रीका बुधवार को सबसे अधिक केस के मामले में ब्रिटेन और स्पेन को पीछे छोड़ देगा. पूरी संभावना है कि वह सबसे अधिक केस के मामले में दो दिन के भीतर मैक्सिको को पीछे छोड़कर सातवें नंबर पर आ जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज