लाइव टीवी

अफ्रीका में एड्स वर्कर्स ने दवाओं के बदले बनाए फिजिकल रिलेशन, वेश्याओं का किया इस्तेमाल

भाषा
Updated: June 21, 2018, 9:26 PM IST
अफ्रीका में एड्स वर्कर्स ने दवाओं के बदले बनाए फिजिकल रिलेशन, वेश्याओं का किया इस्तेमाल
सामाजिक कल्‍याण संस्था मेडिसीन्स सैंस फ्रंटियर्स (एमएसएफ) के एड्स कार्यकर्ता. (सांकेतिक तस्‍वीर/File Photo: REUTERS/Kenny Katombe)

मध्य अफ्रीका में एचआईवी मरीजों के लिए काम कर चुकी एक दूसरी पूर्व कर्मचारी ने कहा कि वहां एमएसएफ के कर्मचारियों के स्थानीय वेश्याओं का इस्तेमाल करने की बातें की जाती थीं.

  • Share this:
सामाजिक कल्‍याण संस्था मेडिसीन्स सैंस फ्रंटियर्स (एमएसएफ) के एड्स कार्यकर्ताओं ने अफ्रीका में वेश्याओं का इस्तेमाल किया. 'BBC' की एक खबर में अनाम व्हिसल ब्लोअर का हवाला देते हुए यह खुलासा किया गया. खबर के अनुसार, इन कार्यकर्ताओं ने यौन संबंधों के बदले दवाओं का लेनदेन किया.

गैर सरकारी संगठन ने कहा कि वह आरोपों को गंभीरता से लेता है, लेकिन कहा कि वह दावों की पुष्टि करने में असमर्थ है और मामले से जुड़ी सूचना होने पर लोगों से सामने आने की अपील की.

ये भी पढ़ें: ट्रंप के फैसले के कारण परिवार से बिछड़े बच्चों की खबर बताते भावुक हो गईं न्यूज़ एंकर

'BBC' एमएसएफ के लंदन कार्यालय के एक पूर्व कर्मचारी ने  कहा कि उसने एक वरिष्ठ कर्मचारी को केन्या में तैनाती के दौरान एमएसएफ के आवास स्थल पर लड़कियां लाते देखा था. उसने कहा, ‘लड़कियां बहुत कम उम्र की थीं और कहा जा रहा था कि वे वेश्याएं हैं.' पूर्व कर्मचारी ने कहा कि यह साफ है कि वेश्याओं को वहां यौन संबंध बनाने के लिए लाया गया था.



मध्य अफ्रीका में एचआईवी मरीजों के लिए काम कर चुकी एक दूसरी पूर्व कर्मचारी ने कहा कि वहां एमएसएफ के कर्मचारियों के स्थानीय वेश्याओं का इस्तेमाल करने की बातें की जाती थीं. एक और व्हिसल ब्लोअर ने कहा कि एक वरिष्ठ सहकर्मी इबोला प्रभावित लाइबेरिया में लड़कियों से दवाओं के बदले यौन संबंध बनाने की शेखी बघारता था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2018, 9:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर