होम /न्यूज /दुनिया /इक्वाडोर: जेल में खूनी खेल! ड्रग गिरोह के मालिक के साथ 16 की मौत, 43 घायल, जानें पूरा मामला

इक्वाडोर: जेल में खूनी खेल! ड्रग गिरोह के मालिक के साथ 16 की मौत, 43 घायल, जानें पूरा मामला

मंगलवार को मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हो गई. (फाइल फोटो)

मंगलवार को मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हो गई. (फाइल फोटो)

World News: इक्वाडोर की एक जेल में सोमवार को कैदियों के बीच खूनी लड़ाई हो गई. इसमें मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हो गई ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इक्वाडोर की एक जेल में कैदियों के बीच सोमवार को खूनी लड़ाई हुई
मंगलवार को मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हो गई
अधिकारियों के अनुसार मृतकों में से एक कथित ड्रग गिरोह का सरगना भी

क्विटो. इक्वाडोर की एक जेल में कैदियों के बीच सोमवार को हुई खूनी लड़ाई में मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है. अधिकारियों के अनुसार मृतकों में एक कथित ड्रग गिरोह का मालिक था, जिसने पेरू में महामारी के दौरान अपनी मौत की झूठी अफवाह फैलाकर आरोपों से बचने की कोशिश की थी. वहीं लताकुंगा की जेल में बंदूकों और चाकुओं से लैस कैदियों के बीच संघर्ष में घायलों की संख्या 43 हो गई है, इसमें दो की हालत गंभीर है. लड़ाई सोमवार को शुरू हुई और मंगलवार तड़के तक जारी रही.

न्यूज एजेंसी AP के अनुसार ड्रग गिरोह के मालिक की पहचान लियोनार्डो नोरेरो, उर्फ “एल पैट्रन” के रूप में की गई है. अधिकारियों ने लियोनार्डो नोरेरो की मौत की पुष्टि की है, लेकिन नियमों के अनुसार उसकी मृत्यु कैसे हुई, इसका विवरण केवल उसके परिवार को ही दिया जा सकता है. 35 वर्षीय नोरेरो को मई के अंत में ग्वायाकिल के एक विशेष क्षेत्र में छापे के दौरान गिरफ्तार किया गया था, जिसमें अधिकारियों ने 42 सोने की छड़ें, हथियार, गहने और लगभग 7 मिलियन डॉलर नकद जब्त किए थे. उन्होंने कहा कि वह कम से कम सात कंपनियों और अन्य संपत्तियों के साथ लक्जरी रियल एस्टेट का मालिक है.

मादक पदार्थों की तस्करी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों पर मुकदमे के दौरान उसे राजधानी क्विटो से लगभग 80 किलोमीटर (50 मील) दक्षिण में लताकुंगा के जेल में रखा जा रहा था. नोरेरो, पेरू में मादक पदार्थों की तस्करी के आरोपों में भी वांटेड था. अधिकारियों का कहना है कि उसने साल 2020 के मध्य में कोरोना वायरस महामारी के दौरान आरोपों से बचने के लिए अपनी मौत की झूठी अफवाह फैलाई थी. उसके वकीलों ने एक नकली मृत्यु प्रमाण पत्र पेश किया था और उसकी मौत की तस्वीरें कथित तौर पर पेश की थी.

जेल में सुरक्षा को बढ़ाते हुए दर्जनों सैनिकों को मंगलवार दोपहर इक्वाडोर की जेल में तैनात किया गया है. साथ ही प्रशासनिक कर्मियों को जेल परिसर से निकाल लिया गया है. हाल के वर्षों में इक्वाडोर की राज्य जेलों में कैदियों के प्रतिद्वंद्वी समूहों के बीच कई खूनी संघर्ष देखें गए हैं. जेल अधिकारी ने कहा कि पिछले साल अन्य कैदियों ने 316 कैदियों की हत्या कर दी थी. वहीं इस साल अब तक 106 लोगों की मौत हो चुकी है. सबसे खराब लड़ाई सितंबर 2021 में ग्वायाकिल के लिटोरल पेनिटेंटरी में हुई, जब 125 कैदी मारे गए थे. दो महीने बाद उसी जेल में एक लड़ाई में 65 लोगों की मौत हो गई.

Tags: World news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें