कमला हैरिस को दुर्गा मां की तरह दिखाने पर अमेरिका में हिंदू नाराज, ट्रंप को बताया गया महिषासुर

(फोटो सौ. Al Drago/The New York Times)
(फोटो सौ. Al Drago/The New York Times)

दुर्गा मां के फोटो में कमला हैरिस (Kamala Harris) का चेहरा लगाने को लेकर विवाद हो गया है. इस फोटो को लेकर अमेरिका में रहने वाले हिंदू खासे नाराज हैं और हैरिस से माफी की मांग कर रहे हैं. हैरिस डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) की तरफ से उप राष्ट्रपति (Vice President) पद की उम्मीदवार हैं.

  • Share this:
अमेरिका में चुनाव (US Election) होने में कुछ हफ्तों का ही वक्त बचा है. ऐसे में उप राष्ट्रपति पद की रेस में शामिल भारतीय मूल की कमला हैरिस (Kamala Harris) अमेरिका में हिंदू समुदाय की नाराजगी का सामना कर रही हैं. दरअसल कमला की भतीजी मीना हैरिस (Meena Harris) ने एक एडिटेड फोटो ट्वीट (Tweet) किया था, जिसमें हैरिस दुर्गा मां (Goddess Durga) के रूप में नजर आ रही थीं. हालांकि, विरोध के बाद तस्वीर को सोशल मीडिया से हटा लिया गया है, लेकिन हिंदू इस मामले पर हैरिस से माफी की मांग कर रहे हैं.

धार्मिक तस्वीरों को लेकर जारी हो चुके हैं दिशा-निर्देश
पेशे से वकील और बच्चों के लिए किताबें लिखने वाली मीना की तरफ से पोस्ट किए गए फोटो में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार कमला को दुर्गा मां और अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) को राक्षस महिषासुर की तरह पेश किया गया था.

कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस ने यह फोटो ट्वीट किया था, जिसे विरोध के बाद हटा लिया गया।

मीना के इस ट्वीट के जवाब में हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन (Hindu American Foundation) के सुहाग ए शुक्ला ने लिखा, 'आपने मां दुर्गा की जो तस्वीर साझा की जिसमें उनके चेहरे पर दूसरा चेहरा लगाया गया है उससे दुनियाभर में हिंदू समुदाय के अनेक लोग व्यथित हैं'. इसके अलावा अमेरिकन हिंदूज अगेंस्ट डिफेमेशन (Hindu Against Defamation) के अजय शाह ने एक बयान में कहा कि तस्वीर अपमानजनक है और इससे धार्मिक समुदाय में नाराजगी है.



अमेरिका में रहने वाले हिंदुओं के इस संगठन ने देवी-देवताओं या धर्म से जुड़ी किसी भी तस्वीर के व्यवसायिक इस्तेमाल को लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं. जबकि, हिंदू अमेरिकन पोलिटीकल एक्शन कमेटी (American Political Action Committee) के ऋषि भूतड़ा कहते हैं कि यह फोटो कमला हैरिस ने नहीं बनाई है और यह पहले से ही इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म वॉट्सऐप (WhatsApp) पर वायरल हो रही थी. उन्होंने कहा कि बाइडेन (Biden) के चुनावी अभियान (Election Campaign) से यह बात साफ हो गई है कि तस्वीर उनकी तरफ से नहीं बनाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज