भारत-मालदीव के बीच 5 करोड़ डॉलर के रक्षा ऋण सुविधा पर हुआ करार, कई परियोजना को मिलेगी मदद

कई अहम समझौते पर हुए हस्ताक्षर

कई अहम समझौते पर हुए हस्ताक्षर

S Jaishankar in Maldives: दो दिवसीय दौरे पर यहां आए जयशंकर ने मालदीव की रक्षा मंत्री मारिया दीदी से भी मुलाकात की. जयशंकर ने भी कहा कि दोनों देश कोरोना महामारी के बाद आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए भी सहयोग जारी रखेंगे.

  • Share this:
माले. विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar ) ने रविवार को यहां कहा कि भारत हमेशा मालदीव (Maldives) का एक भरोसेमंद सुरक्षा साझेदार रहेगा. भारत ने मालदीव के साथ पांच करोड़ डॉलर के रक्षा ऋण समझौते ( Lines of Credit) पर भी हस्ताक्षर किये हैं जिससे इस द्वीपीय राष्ट्र में नौवहन क्षेत्र में क्षमता निर्माण सुविधाओं को बढ़ावा मिलेगा.

दो दिवसीय दौरे पर यहां आए जयशंकर ने मालदीव की रक्षा मंत्री मारिया दीदी से भी मुलाकात की.उन्होंने ट्वीट किया, “रक्षा मंत्री मारिया दीदी के साथ सौहार्दपूर्ण मुलाकात. हमारे रक्षा सहयोग पर उपयोगी आदान-प्रदान हुआ. भारत हमेशा मालदीव का एक भरोसेमंद सुरक्षा साझेदार रहेगा.”



उन्होंने कहा, “रक्षा मंत्री मारिया दीदी के साथ यूटीएफ हार्बर परियोजना समझौते पर हस्ताक्षर करने की खुशी है. इससे मालदीव की तटरक्षक क्षमताएं बढ़ेंगी और क्षेत्रीय एचएडीआर परियोजना को मदद मिलेगी. विकास में साझेदार, सुरक्षा में भी साझेदार.”
ये भी पढ़ें:- पीशी जाओ: ममता को घेरने के लिए BJP ने 'बेला चाओ' को दिया चुनावी ट्विस्ट

इससे पहले विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि दोनों देश कोरोना महामारी के बाद आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए भी सहयोग जारी रखेंगे. भारतीय विदेश मंत्री ने मालदीव के विदेश मंत्री शाहिद और स्वास्थ्य मंत्री अहमद नसीम को कोविड-19 के एक लाख टीकों की अतिरिक्त खुराक भी दी.  भारत की तरफ से मदद मिलने पर मालदीव के विदेश मंत्री ने शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा कि दोनों देशों के समकक्षों के बीच एक अहम बैठक हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज