इटली ने दी धमकी- इमीग्रेंट्स को लेकर चार्टर्ड विमान आया तो बंद कर देंगे एयरपोर्ट

इटली ने दी धमकी- इमीग्रेंट्स को लेकर चार्टर्ड विमान आया तो बंद कर देंगे एयरपोर्ट
इटली के गृहमंत्री मैटियो साल्विनी

कुछ ही महीनों पहले साल्विनी ने लीबिया के तट से उठाए गए 629 प्रवासियों से भरी बचाव नौका को अपने बंदरगाहों में डेरा डालने की अनुमति देने से मना कर दिया था.

  • Share this:
जर्मनी द्वारा इमीग्रेंट्स को चार्टर्ड विमान से इटली भेजने की खबर आने के बाद इटली के गृहमंत्री मैटियो साल्विनी ने देश के हवाई अड्डे बंद करने की धमकी दी है. खबर है कि जर्मनी ऐसे इमीग्रेंट्स को चार्टर्ड विमानों से इटली भेजने की योजना बना रहा है जिन्हें उसने शरण नहीं दी है.

साल्विनी ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘यदि बर्लिन या ब्रसेल्स में गैर-अधिकृत चार्टर्ड विमानों के जरिए कोई दर्जनों इमीग्रेंट्स को इटली भेजने की सोच रहा है तो उन्हें पता होना चाहिए कि इसके लिए हवाई अड्डे उपलब्ध नहीं हैं.’’

ये भी पढेंः ये है मौत का आईलैंड, यहां जाने वाला जिंदा नहीं बचता
कुछ ही महीनों पहले साल्विनी ने लीबिया के तट से उठाए गए 629 प्रवासियों से भरी बचाव नौका को अपने बंदरगाहों में डेरा डालने की अनुमति देने से मना कर दिया था. इसी का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हम हवाई अड्डे भी वैसे ही बंद कर देंगे, जैसे हमने बंदरगाह बंद किए हैं.’’
गौरतलब है कि जर्मन संवाद समिति डीपीए ने रविवार को अपनी खबर में कहा है कि बर्लिन ऐसे इमीग्रेंट्स को चार्टर्ड विमानों से वापस इटली भेजेगा जिन्हें उसने शरण नहीं दी है. एजेंसी की खबर के अनुसार,  इमीग्रेंट्स को लेकर जाने वाला पहला चार्टर्ड विमान सोमवार को रवाना होना है और अगला विमान 17 अक्टूबर को रवाना होगा. इमीग्रेंट्स में ज्यादातर नाइजीरियाई हैं जिन्होंने इटली के रास्ते यूरोपियन यूनियन में प्रवेश किया है.इटली के अखबार ‘ला रिपब्लिका’ ने शनिवार को अपनी खबर में लिखा, ‘‘जर्मनी का  इमीग्रेशन ऑफिस शरण मांगने वालों को चिट्ठियां भेज रहा है और तथाकथित डबलिन नियमों के तहत उनको तुरंत इटली वापस जाने की चेतावनी दे रहा है.’’ डबलिन नियमों के तहत  इमीग्रेंट्स उस देश की जिम्मेदारी हैं जहां वह सबसे पहले पहुंचे थे.ये भी पढ़ेंः इटली के जेनोवा में भारी बारिश के वजह से ढहा ब्रिज, कम से कम 35 लोगों की मौत


हालांकि, जर्मनी के गृह मंत्रालय ने इस बात को खारिज करते हुए रविवार को कहा कि आने वाले दिनों में इमीग्रेंट्स को इटली भेजने की उसकी कोई योजना नहीं है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज