होम /न्यूज /दुनिया /उत्तर कोरिया से निपटने के लिए जापान ने कसी कमर, हाइपर सोनिक मिसाइल से देगा जवाब

उत्तर कोरिया से निपटने के लिए जापान ने कसी कमर, हाइपर सोनिक मिसाइल से देगा जवाब

उत्तर कोरिया कई दिनों से लगातार मिसाइल दाग कर अपने पड़ोसियों को डरा रहा है. (फोटो साभार: योनहाप)

उत्तर कोरिया कई दिनों से लगातार मिसाइल दाग कर अपने पड़ोसियों को डरा रहा है. (फोटो साभार: योनहाप)

Japan Hypersonic Missiles: हाइपरसोनिक मिसाइलों को बेहद एडवांस माना जाता है जो कि ध्वनि की गति से कम से कम पांच गुना तेज ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

जापान का रक्षा मंत्रालय 2030 तक हाइपरसोनिक मिसाइलों की तैनाती पर विचार कर रहा है
उत्तर कोरिया की धमकियों से निपटने के लिए जापान का काउंटरफोर्स क्षमता को बढ़ाने पर जोर
ध्वनि की गति से कम से कम पांच गुना तेज होती हैं हाइपरसोनिक मिसाइल

टोक्यो. उत्तर कोरिया के लगातार मिसाइल आतंक से परेशान जापान ने अब उसका जवाब देने के लिए बेहद एडवांस हाइपरसोनिक मिसाइल को तैनात करने का निर्णय लिया है. एशिया की न्यूज़ एजेंसी निक्केई बिजनेस डेली ने गुरुवार को बताया कि जापान का रक्षा मंत्रालय 2030 तक हाइपरसोनिक मिसाइलों की तैनाती पर विचार कर रहा है. यूक्रेन में रूस के आक्रमण से वैश्विक सुरक्षा वातावरण और उत्तर कोरिया की धमकियों से निपटने के लिए जापान का रक्षा मंत्रालय काउंटरफोर्स क्षमताओं को बढ़ाने पर जोर दे रहा है.

ध्वनि की गति से कम से कम पांच गुना तेज
हाइपरसोनिक मिसाइलों को बेहद एडवांस माना जाता है जो कि ध्वनि की गति से कम से कम पांच गुना तेज होती है. इतनी तेज गति होने के कारण इन मिसाइल को एयर डिफेंस सिस्टम भी भेदने में काफी संघर्ष करते हुए दिखाई पड़ते हैं. ऐसे में जापान सरकार का हाइपरसोनिक मिसाइल तैनात करने का फैसला सीधे तौर पर उत्तर कोरिया को बड़ा सन्देश देना भी है.

साथ ही जापान वर्ष के अंत तक अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति के साथ-साथ अन्य प्रमुख रक्षा पत्रों को संशोधित करने की योजना बना रहा है. निक्केई के अनुसार, उन दस्तावेजों में भी पलटवार क्षमताओं और हाइपरसोनिक मिसाइलों पर जापान के रुख का उल्लेख किया जा सकता है.
रिपोर्ट में कहा गया है कि एक विचार यह है कि जापान अमेरिका द्वारा निर्मित टॉमहॉक प्राप्त करके तीन राज्यों में लंबी दूरी की मिसाइलों को तैनात कर सकता है, जो अपनी पलटवार क्षमताओं को बढ़ाने का पहला कदम है.

उत्तर कोरिया ने दागीं 23 मिसाइल
दक्षिण कोरिया और अमेरिका के युद्धाभ्यास से तमतमाए उत्तर कोरिया ने एक दिन में रिकॉर्ड 23 मिसाइल दाग दी थी जिसने जापान और दक्षिण कोरिया में अलर्ट की स्थिति पैदा की. लांच की पहली सूचना के लगभग 25 मिनट बाद, जापान के तटरक्षक बल ने कहा कि मिसाइल जापान के पूर्व में 1,100 किलोमीटर दूर प्रशांत महासागर में जाकर गिरी है. मिसाइल के दौरान जारी हुए अलर्ट पर कहा गया कि एक मिसाइल ने जापान के ऊपर से उड़ान भरी थी. हालांकि जापान के रक्षा मंत्रालय ने बाद में कहा कि मिसाइल जापानी क्षेत्र के ऊपर से नहीं गई थी.

Tags: Japan, North Korea, Nuclear-capable hypersonic missile

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें