Home /News /world /

न्यूजीलैंड की पहली बुकर प्राइज विजेता कैरी हुल्मे का निधन

न्यूजीलैंड की पहली बुकर प्राइज विजेता कैरी हुल्मे का निधन

तंबाकू बीनने का काम करने से लेकर विधि स्कूल में पढ़ाई पूरी नहीं कर पाने जैसी समस्याओं का सामना करते हुए हुल्मे ने एक सफल लेखिका बनने का सफर तय किया.

तंबाकू बीनने का काम करने से लेकर विधि स्कूल में पढ़ाई पूरी नहीं कर पाने जैसी समस्याओं का सामना करते हुए हुल्मे ने एक सफल लेखिका बनने का सफर तय किया.

Keri Hulme Passed Away: न्यूजीलैंड की लेखिका केरी हुल्मे के 1984 में आए उपन्यास ‘द बोन पीपल’ को ‘मैन बुकर प्राइज़’ से सम्मानित किया गया था. उन्होंने इसे लगभग 20 साल में लिखा था.

    वेलिंग्टन. ‘मैन बुकर प्राइज़’ (Booker Prize)से सम्मानित न्यूजीलैंड की लेखिका (New Zealand novelist) केरी हुल्मे (Keri Ann Ruhi Hulme Passed Away) का निधन हो गया है. वह 74 वर्ष की थीं. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, हुल्मे के परिवार के सदस्यों ने बताया कि न्यूजीलैंड के दक्षिण द्वीप पर वाइमेट में सोमवार सुबह लेखिका ने अंतिम सांस ली. उनके निधन के कारणों की जानकारी सामने नहीं आई है.

    हुल्मे के 1984 में आए उपन्यास ‘द बोन पीपल’ को ‘मैन बुकर प्राइज़’ से सम्मानित किया गया था. उन्होंने इसे लगभग 20 साल में लिखा था.

    हुल्मे के भतीजे मैथ्यू सैल्मन्स ने न्यूजीलैंड की समाचार वेबसाइट ‘स्टफ’ से कहा, ‘उनके साहित्यिक दिग्गज बनने के संबंध में कई कहानियां बताई गईं, लेकिन उन्होंने वास्तव में इस बारे में कभी कोई चर्चा नहीं की.’

    तंबाकू बीनने का काम करने से लेकर विधि स्कूल में पढ़ाई पूरी नहीं कर पाने जैसी समस्याओं का सामना करते हुए हुल्मे ने एक सफल लेखिका बनने का सफर तय किया.

    हुल्मे के भतीजे मैथ्यू सैल्मन्स ने कहा, ‘उन्हें शोहरत की इच्छा कभी नहीं थी. वह हमेशा एक कहानीकार रहीं.’ (PTI इनपुट)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर