क्राइस्टचर्च में मस्जिदों पर गोलीबारी के बाद लोगों ने दी श्रद्धांजलि, कहा- माफ करें, यह हम नहीं हैं

न्यू जीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने इसे ‘हिंसा की एक असाधारण और अभूतपूर्व घटना’ बताते हुये स्वीकार किया कि इसमें प्रभावित लोग या तो प्रवासी हैं या फिर शरणार्थी हैं.

News18Hindi
Updated: March 17, 2019, 7:34 AM IST
क्राइस्टचर्च में मस्जिदों पर गोलीबारी के बाद लोगों ने दी श्रद्धांजलि, कहा- माफ करें, यह हम नहीं हैं
न्यू जीलैंड में मस्जिद पर हुए हमले के बाद श्रद्धांजलि सभा (AP Photo/Vincent Yu)
News18Hindi
Updated: March 17, 2019, 7:34 AM IST
क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में गोलीबारी में पीड़ितों के लिए न्यूजीलैंड के निवासियों से भारी भावनात्मक समर्थन मिला. शहर के पार्क्स में लोगों ने फूलों, कार्ड्स के जरिए श्रद्धांजलि दी. लोगों ने श्रद्धांजलि स्थल पर अपने फोन नंबर भी लिखे ताकि किसी को कोई मदद की जरूरत हो तो वह संपर्क कर सकें.

एक कार्ड बोर्ड पर भावनात्मक संदेश में लिखा था- 'माफ करें, यह हम नहीं हैं.'

लिनवुड मस्जिद के इमाम अब्दुल हलीम ने कहा कि हम इस देश को हमेशा प्यार करेंगे. लिनवुड मस्जिद में भी गोलीबारी हुई थी जहां 7 लोग मारे गए थे. उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के मुसलमान न्यूजीलैंड को अब भी अपना घर मानते हैं.



यह भी पढ़ें: अमेरिका : महिला ने 9 मिनट में 4 लड़कों और 2 लड़कियों को दिया जन्म

हलीम ने कहा, 'मेरे बच्चे यहां रहते हैं. हम खुश हैं.' उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के अधिकतर लोग 'हमारी मदद करने और एकजुटता बनाए रखने के इच्छुक हैं.' हलीम ने बताया कि शनिवार को अजनबियों ने भी उन्हें गले लगाया. हलीम ने कहा, 'उन्होंने शुरुआत मुझे गले लगाकर की. यह एकजुटता बहुत महत्वपूर्ण है.' क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में हुए हमलों में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई है.

यह भी पढ़ें: LIC का नया प्लान: बेटी के लिए जमा कराएं 121 रुपए, कन्यादान पर मिलेंगे 27 लाख

न्यू जीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने इसे ‘हिंसा की एक असाधारण और अभूतपूर्व घटना’ बताते हुये स्वीकार किया कि इसमें प्रभावित लोग या तो प्रवासी हैं या फिर शरणार्थी हैं. मृतकों की संख्या बताते हुये उन्होंने कहा कि 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. अर्डर्न ने कहा, ‘यह स्पष्ट है कि इसे aअब केवल आतंकवादी हमला ही करार दिया जा सकता है। हम जितना जानते हैं, ऐसा लगता है कि यह पूर्व नियोजित था.’
Loading...

यह भी पढ़ें: आतंकी मसूद अजहर बोला- बालाकोट में नहीं हुआ कोई नुकसान, सब कुछ ठीक-ठाक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...