होम /न्यूज /दुनिया /

यूक्रेन युद्ध में उत्तर कोरिया की एंट्री! रूस की मदद के लिए 1 लाख सैनिकों की पेशकश: रिपोर्ट

यूक्रेन युद्ध में उत्तर कोरिया की एंट्री! रूस की मदद के लिए 1 लाख सैनिकों की पेशकश: रिपोर्ट

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन. (फाइल फोटो)

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन. (फाइल फोटो)

Russia Ukraine War North Korea: रूसी रक्षा विश्लेषक इगोर कोरोटचेंको ने कहा, 'अगर यूक्रेनी फासीवाद के खिलाफ लड़ने के लिए उत्तर कोरिया अपने अंतरराष्ट्रीय कर्तव्य को पूरा करने की इच्छा व्यक्त करता है, तो हमें उन्हें अनुमति देनी चाहिए.'

अधिक पढ़ें ...

मॉस्को. उत्तर कोरिया ने कथित तौर पर यूक्रेन के खिलाफ हमले में रूस की मदद करने के लिए 100,000 ‘वॉलन्टियर’ सैनिकों की पेशकश की है. रूस की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी. न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी रक्षा विश्लेषक इगोर कोरोटचेंको ने रूसी चैनल वन को बताया, ‘ऐसी खबरें हैं कि 100,000 उत्तर कोरियाई वॉलन्टियर्स आने और संघर्ष में भाग लेने के लिए तैयार हैं.’ ‘काउंटर-बैटरी युद्ध के अनुभव में माहिर’ उत्तर कोरियाई सेना की प्रशंसा करते हुए, विशेषज्ञ ने कहा कि रूस को उत्तर कोरियाई सैनिकों और उनकी काउंटर-बैटरी में महारत का तहे दिल से स्वागत करना चाहिए. युद्ध के दौरान दुश्मन देश के फायर सपोर्ट सिस्टम को रोकने या फिर खत्म करने को काउंटर-बैटरी कहते हैं.

कोरोटचेंको ने कहा, ‘अगर यूक्रेनी फासीवाद के खिलाफ लड़ने के लिए उत्तर कोरिया अपने अंतरराष्ट्रीय कर्तव्य को पूरा करने की इच्छा व्यक्त करता है, तो हमें उन्हें अनुमति देनी चाहिए.’ कोरोटचेंको की टिप्पणियां उन रिपोर्टों के सामने आने के कुछ दिनों बाद आई हैं, जिनमें कई रूसी राज्य तथाकथित ‘वॉलंटियर’ सेना प्रदान कर रहे हैं. हालांकि, कुछ पश्चिमी खुफिया विश्लेषक ने रूस की ओर से हताश समझा जाने वाला एक कदम बताया जा रहा है, जो यह संकेत देता है कि व्लादिमीर पुतिन के पास रूस के अंदर बड़े पैमाने पर लामबंदी का आदेश देने के लिए राजनीतिक सहयोग की कमी है.

पिछले महीने, ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI6 के प्रमुख रिचर्ड मूर ने कहा था कि अब रूस की ओर युद्ध की कोशिश उसकी ‘हताशा’ को दिखा रहा है. कोलोराडो में आयोजित एस्पेन सिक्योरिटी फोरम में एक सवाल-जवाब सत्र के दौरान उनके हवाले से कहा गया था, ‘हमारा आकलन है कि रूसियों को अगले कुछ हफ्तों में जनता का समर्थन मिलना और सामग्री की आपूर्ति करना मुश्किल हो जाएगा.’

न्यूयॉर्क स्थित काउंसिल फॉर फॉरेन रिलेशंस के अनुसार, उत्तर कोरिया की सेना लगभग 10 लाख 30 हजार सक्रिय कर्मियों के साथ दुनिया की चौथी सबसे बड़ी सेना है. इसमें आरक्षित सैनिकों के रूप में और 600,000 कर्मी हैं. सीएफ़पी में रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, उत्तर कोरिया पुराने उपकरणों और प्रौद्योगिकी के साथ काम करता है. दक्षिण कोरियाई अखबार ‘डेली एनके’ ने बताया कि उत्तर कोरिया ने युद्ध के बाद यूक्रेन के पुनर्निर्माण में भी रूस की सहायता के लिए श्रमिकों की पेशकश की है.

Tags: North Korea, Russia, Ukraine

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर