होम /न्यूज /दुनिया /जापान में PM ने क्यों जारी किया इमरजेंसी अलर्ट? क्या किसी बड़े हमले की है आशंका! जानें इनसाइड स्टोरी

जापान में PM ने क्यों जारी किया इमरजेंसी अलर्ट? क्या किसी बड़े हमले की है आशंका! जानें इनसाइड स्टोरी

जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने उत्तर कोरिया के मिसाइल लांच को देखते हुए इमरजेंसी अलर्ट जारी किया है. (File Photo)

जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने उत्तर कोरिया के मिसाइल लांच को देखते हुए इमरजेंसी अलर्ट जारी किया है. (File Photo)

Japan's Emergency Alert: जे-अलर्ट इमरजेंसी ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम के अनुसार, उत्तरी जापान में मियागी, यामागाटा और निगाटा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

उत्तर कोरिया की मिसाइल ने लगभग 2,000 किलोमीटर की ऊंचाई और 750 किलोमीटर दूर तक उड़ान भरी
जापानी रक्षा मंत्री यासुकाज़ु हमदा ने कहा कि कोई भी मिसाइल जापान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं गुजरी
योनहाप समाचार एजेंसी ने बताया कि उत्तर कोरिया ने ICBM को किया था लॉन्च

टोक्यो. उत्तर कोरिया की ओर से दागी गई मिसाइल को देखते हुए जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने इमरजेंसी अलर्ट जारी किया है. जापान के PMO ने एक ट्वीट में अलर्ट की जानकारी देते हुए कहा कि उत्तर कोरिया की तरफ से छोड़ी गई संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइल को ध्यान में रखने हुए यह अलर्ट जारी किया जा रहा है. इस बाबत सरकार ने सुरक्षा एजेंसियो को फ़ौरन इनपुट्स को एकत्र कर जनता को त्वरित और पर्याप्त जानकारी प्रदान करने के निर्देश भी दिए हैं. साथ ही हमले की आशंका को देखते हुए विमान, जहाजों और अन्य संपत्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है.

जे-अलर्ट इमरजेंसी ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम के अनुसार, उत्तरी जापान में मियागी, यामागाटा और निगाटा प्रान्त के निवासियों को गुरुवार को घर के अंदर शरण लेने की चेतावनी दी गई थी. यह चेतावनी उत्तर कोरिया की ओर से लांच की गई एक बैलिस्टिक मिसाइल को देखते हुए दी गई जो जापान के तट के करीब से निकली थी. हालांकि जापानी रक्षा मंत्री यासुकाज़ु हमदा ने कहा कि कोई भी मिसाइल जापान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं गुजरी थी.

उन्होंने कहा कि पहली मिसाइल ने लगभग 2,000 किलोमीटर की ऊंचाई और 750 किलोमीटर की दूरी तक उड़ान भरी. इस तरह के उड़ान पैटर्न को “लॉफ्टेड ट्रैजेक्टरी” कहा जाता है, जिसमें पड़ोसी देशों के ऊपर से उड़ान भरने से बचने के लिए मिसाइल को अंतरिक्ष में ऊंचा दागा जाता है. कुछ मिनट बाद पत्रकारों से बातचीत में प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा ने कहा, “उत्तर कोरिया का बार-बार मिसाइल प्रक्षेपण करना उसके आक्रोश को दिखाता है और इसे बिल्कुल माफ नहीं किया जा सकता.”

प्रक्षेपण की पहली सूचना के लगभग आधे घंटे बाद, जापान के तटरक्षक बल ने कहा कि मिसाइल प्रशांत महासागर में गिर गई थी. योनहाप समाचार एजेंसी ने बताया कि पहली मिसाइल में स्टेज सेपरेशन हुआ था जिससे यह संकेत मिलते हैं कि यह एक लंबी दूरी की अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) हो सकती है.

Tags: Japan, North Korea, South korea

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें