हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की हत्या से अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को सता रहा ये डर, जानें

राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की उनके निजी आवास में बुधवार तड़के हुई हत्या के मामले में पुलिस ने चार संदिग्ध लोगों को मार गिराया है (AP)

राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे (Jovenel Moise) की उनके निजी आवास में बुधवार तड़के हुई हत्या के मामले में पुलिस ने चार संदिग्ध लोगों को मार गिराया है, जबकि दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है.

  • Share this:
    पोर्ट ऑफ प्रिंस. कैरेबियाई देश हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे (Jovenel Moise) की हत्या और प्रथम महिला पर हुए हमले को लेकर अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में आक्रोश है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शोक जताया है. एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से कहा गया, 'राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की हत्या और प्रथम महिला पर हमले से दुखी हूं. राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे के परिवार वालों और हैती के लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.'

    राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे की उनके निजी आवास में बुधवार तड़के हुई हत्या के मामले में पुलिस ने चार संदिग्ध लोगों को मार गिराया है, जबकि दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है. न्यूज एजेंसी एएफपी ने पुलिस के हवाले से बताया है कि मोइसे की हत्या में 26 कोलंबियाई और दो अमेरिकी नागरिक शामिल हैं.

    आइए जानते हैं कौन थे जोवेनेल मोइसे और कौन हो सकते हैं उनके हत्यारे...

    कब हुई हत्या?
    बुधवार स्थानीय समयानुसार लगभग 1:00 बजे बंदूकधारियों ने राजधानी पोर्ट-ऑफ-प्रिंस में मोइसे के भारी सुरक्षा वाले निजी आवास पर हमला किया. मोइसे की गोली मारकर हत्या कर दी गई और उसकी पत्नी मार्टीन गंभीर रूप से घायल हो गईं. उन्हें एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया. हालत गंभीर होने के बाद फिलहाल मियामी में उनका इलाज चल रहा है.

    हैती: राष्ट्रपति मोइसी की हत्या में 26 कोलंबियाई और 2 अमेरिकी शामिल, 4 संदिग्ध ढेर

    मजिस्ट्रेट कार्ल हेनरी डेस्टिन ने नोवेलिस्ट अखबार को बताया कि मोइसे को 12 बार गोली मारी गई थी. उनके कार्यालय और बेडरूम में तोड़फोड़ की गई थी. हमलावरों की पहचान अभी नहीं हो पाई है. हत्या की वजह का भी पता नहीं चला है.

    अमेरिका के सबसे गरीब देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के संकल्प पर 53 वर्षीय व्यावसायी मोइसे को 2016 में हैती का राष्ट्रपति चुना गया था. उन्होंने 7 फरवरी 2017 को पदभार ग्रहण किया. लेकिन बिगड़ती राजनीतिक और सुरक्षा स्थिति के चलते हालात लगातार चुनौतीपूर्ण बने हुए थे.

    साल 2018 में विधानसभा के चुनाव में देरी होने के बाद मोइसे ने अमेरिका के सबसे गरीब देश हैती पर डिक्री के जरिए शासन किया था. यहां चुनावों को लेकर कई तरह के विवाद चल रहे थे, जिसके बाद मोइसे ने अपना कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी शासन किया था. इसके बाद उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा था. देश की आबादी का एक हिस्सा उनके जनादेश को नाजायज मानता था. पिछले चार सालों में उन्होंने सात बार प्रधानमंत्रियों को बदला था. देश के मौजूदा प्रधानमंत्री जोसेफ भी तीन महीने पहले ही इस पद पर आए थे और अगले एक हफ्ते में उनका कार्यकाल समाप्त होने वाला था.

    हमलावर
    देश के अंतरिम प्रधानमंत्री क्लॉड जोसेफ ने कहा कि इस घटना से देश में राजनीतिक अस्थिरता बढ़ेगी. जबकि यह देश पहले से ही सामूहिक हिंसा और राजनीतिक अस्थिरता का सामना कर रहा है. उन्होंने जनता से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि देश अब उनके हाथों में है और सेना सभी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी.

    PM ने बताया, "कुछ अज्ञात लोग, जो स्पैनिशन और अंग्रेजी में बात कर रहे थे, उन्होंने राष्ट्रपति के निजी निवास पर लगभग 1 बजे हमला किया. इस हमले में राष्ट्रपति की मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी भी घायल हुई हैं. इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है."

    हैती में बढ़ रहे हैं अपराध
    प्राकृतिक आपदा के कारण यहां गरीबी बहुत ज्यादा बढ़ गई थी, जिससे अपराध भी बढ़े. हाल ही में यहां फिरौती के लिए अपहरण की घटनाएं भी बढ़ी थी. इससे हथियारबंद गिरोहों का प्रभाव भी देश में बढ़ा है. कुछ दिन पहले राजधानी में एक मुख्य सड़क पर गोलीबारी में कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई थी. मृतकों में एक पत्रकार और एक राजनीतिक कार्यकर्ता भी शामिल थे.

    PHOTOS: हैती के राष्ट्रपति की घर में घुसकर हत्या, अमेरिकी एजेंट बनकर आए थे हमलावर

    अंतरराष्ट्रीय चिंता
    राष्ट्रपति की हत्या ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को राजनीतिक अस्थिरता, गरीबी और प्राकृतिक आपदाओं से त्रस्त देश के भविष्य के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों ने 26 सितंबर को निर्धारित विधायी और राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीटिंग बुलाई है. 26 सितंबर को एक संवैधानिक जनमत संग्रह की भी योजना बनाई गई. इसे शुरू में 27 जून के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसमें देरी हुई.

    हमलावरों को देश से भागने से रोकने के लिए पोर्ट-ऑफ-प्रिंस में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है. पड़ोसी डोमिनिकन गणराज्य ने हैती के साथ अपनी सीमा को बंद कर दिया और सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी है. (एएफपी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.