होम /न्यूज /दुनिया /रूस: बिहार के अभय सिंह ने रिकॉर्ड वोटों से जीता चुनाव, पुतिन की पार्टी से बने विधायक

रूस: बिहार के अभय सिंह ने रिकॉर्ड वोटों से जीता चुनाव, पुतिन की पार्टी से बने विधायक

बिहार के अभय सिंह एक बार फिर रूस में चुनाव जीत गए हैं.

बिहार के अभय सिंह एक बार फिर रूस में चुनाव जीत गए हैं.

पश्चिमी रूस (Russia) के कुर्स्क शहर में बिहार (Bihar) के अभय सिंह ने डेप्यूटेंट का चुनाव भारी मतों से जीत लिया है. डेप् ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

कुर्स्क (रूस). पश्चिमी रूस (Russia) के कुर्स्क शहर में बिहार (Bihar) के अभय सिंह ने डेप्यूटेंट का चुनाव भारी मतों से जीत लिया है. अभय सिंह मूलत: बिहार के पटना शहर (Patna City) के रहने वाले हैं. रूस में डेप्यूटेंट (Deputent) का चुनाव दूसरी बार जीता है. डेप्यूटेंट का पद भारत में राज्‍य विधायक (MLA) जैसा होता है. रूस में असेंबली चुनाव (Assembly Election) हाल ही में संपन्‍न हुए हैं. इसमें राष्‍ट्रपति पुतिन के नेतृत्‍व वाली यूनाइटेड रशिया पार्टी ने जीत हासिल की है और अभय सिंह भी इसी पार्टी से उम्‍मीदवार थे.

रूस में डेप्यूटेंट जैसे राजनीतिक पद पर रिकॉर्ड तोड़ जीत दर्ज कराने वाले अभय सिंह इकलौते भारतीय हैं. उन्‍होंने पटना के लोयोला हाई स्‍कूल से शुरुआती पढ़ाई की. इसके बाद 1990 के दशक में वे रूस चले गए और वहां मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया. डॉक्‍टर बनने के बाद वे भारत लौटे और कुछ समय प्रैक्टिस की. इसके बाद एक बार फिर वे रूस गए और वहीं बस गए. रूस में उन्‍होंने पुतिन की पार्टी ज्‍वाइन की और अपनी लोकप्रियता के कारण वे चुनाव जीते. इस बार का चुनाव तो वे करीब 70 प्रतिशत वोट पाकर जीते हैं जो एक रिकॉर्ड बन गया है.

रूस में मिल रहा सम्‍मान, पर जीत इतनी आसान नहीं थी
अभय सिंह के बारे में बताया जाता है कि आज वे रूस के बड़े बिजनेसमैन हैं और उनके पास कई संपत्तियां हैं. वे रियल एस्‍टेट से कारोबारी भी हैं. हालांकि रूस में उन्‍हें कड़ा संघर्ष भी करना पड़ा. रंगभेद और अन्‍य कारणों से उन्‍हें भी कई चुनौतियां आईं. अभय सिंह के बचपन में ही उनके पिता का निधन हो गया था. इसके बाद कई जिम्‍मेदारियां उन्‍हें उठानी पड़ीं.

Tags: MLA, Patna City, Russia

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें