होम /न्यूज /दुनिया /हैकर्स का खिलवाड़, साइबर अटैक के बाद एक ही पते पर पहुंची सैकड़ों टैक्सियां, लगा 3 घंटे जाम

हैकर्स का खिलवाड़, साइबर अटैक के बाद एक ही पते पर पहुंची सैकड़ों टैक्सियां, लगा 3 घंटे जाम

हैकर्स ने टैक्सी सर्विस के सॉफ्टवेयर में लगाई सेंध, सैकड़ों कारों को एक पते पर भेजा (News18)

हैकर्स ने टैक्सी सर्विस के सॉफ्टवेयर में लगाई सेंध, सैकड़ों कारों को एक पते पर भेजा (News18)

एक अजीबोगरीब घटना में हैकर्स ने सर्विस प्रोवाइडर यांडेक्स टैक्सी के सॉफ्टवेयर में सेंध लगाई और सैकड़ों कारों को एक ही ज ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

एक अजीबोगरीब घटना में हैकर्स ने सर्विस प्रोवाइडर यांडेक्स टैक्सी के सॉफ्टवेयर में सेंध लगाई
रूस की राजधानी मास्को में ड्राइवर कई घंटों तक अपनी कारों के अंदर फंसे रहे
यांडेक्स टैक्सी को रूस की सबसे बड़े आईटी कंपनी यांडेक्स चलाती है. यांडेक्स को रूसी Google भी कहा जाता है.

मास्को. रूस में एक अजीबोगरीब घटना में हैकर्स ने एक निजी ऑनलाइन टैक्सी सेवा के साइबर सिस्टम को हैक करके उसके एप्लीकेशन के साथ छेड़छाड़ करके एक ही पते पर सैकड़ों टैक्सियों को भेज दिया. इसके बाद उस इलाके में एक बड़ा ट्रैफिक जाम लग गया. रूस की राजधानी मास्को के कुतुजोवस्की प्रॉस्पेक्ट पर भारी ट्रैफिक जाम देखा गया. बताया जा रहा है कि ड्राइवर कई घंटों तक अपनी कारों के अंदर फंसे रहे.

एआरवाई न्यूज की एक खबर में कहा गया कि इस अजीबोगरीब घटना में हैकर्स ने सर्विस प्रोवाइडर यांडेक्स टैक्सी के सॉफ्टवेयर में सेंध लगाई और सैकड़ों कारों को एक ही जगह पर भेज दिया, जिसके कारण तीन घंटे तक ट्रैफिक जाम रहा. मास्को में यांडेक्स टैक्सी के लिए काम करने वाले सैकड़ों ड्राइवरों को तब तक इसका पता नहीं चला, जब तक कि वे उस जगह पर नहीं पहुंच गए. ये ट्रैफिक जाम करीब 3 घंटे तक चला.

टैक्सी कंपनी यांडेक्स टैक्सी ने साइबर हमले की घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि इसके कारण कुतुजोवस्की प्रॉस्पेक्ट इलाके में जाम लगा और कारों के ड्राइवर परेशान हुए. कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि 1 सितंबर की सुबह यांडेक्स टैक्सी की सेवा को साइबर अटैक करने वालों ने रोकने की कोशिश की. कई दर्जन ड्राइवरों को एक ही जगह जाने के आदेश दिए गए.

Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन में बढ़ रही ज्योतिषियों की पूछ परख

कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए और इस तरह के हमलों का पता लगाने के लिए एल्गोरिदम में पहले ही सुधार किया जा चुका है. उन्होंने कहा कि साइबर हमले से प्रभावित ड्राइवरों को मुआवजा मिलेगा. हालांकि यह साफ नहीं हो पाया कि यांडेक्स टैक्सी हैक के लिए कौन जिम्मेदार था. यांडेक्स टैक्सी को रूस की सबसे बड़े आईटी कंपनी यांडेक्स चलाती है. यांडेक्स को रूसी Google भी कहा जाता है.

Tags: Cyber Attack, Hackers, Moscow, Russia

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें