होम /न्यूज /दुनिया /यूक्रेन में बड़े हमले की आहट! रूस ने दो हफ्तों में ही भर्ती कर लिए 2 लाख से अधिक जवान

यूक्रेन में बड़े हमले की आहट! रूस ने दो हफ्तों में ही भर्ती कर लिए 2 लाख से अधिक जवान

रूस द्वारा बड़े पैमाने पर लोगों की भर्ती को देखते हुए यूक्रेन पर बड़े हमले की आशंका बढ़ गई है. (Image: Reuters)

रूस द्वारा बड़े पैमाने पर लोगों की भर्ती को देखते हुए यूक्रेन पर बड़े हमले की आशंका बढ़ गई है. (Image: Reuters)

Russia Ukraine War: 21 सितंबर को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा घोषित लामबंदी के बाद से रूस की सेना जल्द से जल्द करी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आंशिक लामबंदी का आदेश दिए जाने के बाद से अब तक 2 लाख से अधिक लोगों की भर्ती
यूक्रेन पर रूस के आक्रमण को मजबूत करने के लिए 3 लाख लोगों को भर्ती करेगी रूसी सेना
यूक्रेन से कई मोर्चों पर मिली हार के बाद पुतिन ने दिया लामबंदी का आदेश

मास्को. रूस में बड़े पैमाने पर चल रही लामबंदी के पहले दो हफ्तों में ही 2 लाख से अधिक जवान सेना में भर्ती कर लिए गए हैं. न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स ने रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु के हवाले से बताया है कि दो हफ्ते पहले राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा आंशिक लामबंदी का आदेश दिए जाने के बाद से अब तक 2 लाख से अधिक लोगों को रूस के सशस्त्र बलों में शामिल किया जा चुका है. यूक्रेन के कई हिस्सों में मिली हार के बाद पुतिन ने घोषणा की थी कि उन्होंने यूक्रेन पर रूस के आक्रमण को मजबूत करने के लिए पिछले सैन्य अनुभव वाले 3 लाख पुरुषों को शामिल करने की योजना बनाई है. हालांकि कई मीडिया रिपोर्ट में इस आंकड़े को 10 लाख से अधिक बताया जा रहा है.

21 सितंबर को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा घोषित लामबंदी के बाद से रूस की सेना जल्द से जल्द करीब तीन लाख अतिरिक्त सैनिकों की भर्ती करना चाह रही है. ऐसे में अपात्र लोगों को भी लामबंदी के लिए कॉल दी जा रही है. रूस के रक्षा मंत्रालय ने पहले ही साफ कर दिया है कि केवल सेना में रिजर्व बल के तौर पर तैनात लोगों और रिटायर कमर्चारियों को ही इस लामबंदी में बुलाया जाएगा. बावजूद इसके कई मौकों पर आम लोगों को भी सेना से कॉल जा रही है.

ऐसी ही एक गड़बड़ी के बाद रूसी सेना ने अपने खाबरोवस्क क्षेत्र के सैन्य कमिश्नर को उनके पद से हटा दिया. स्टेट मीडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार सेना की ओर से गलत लोगों को लामबंदी की कॉल देने के चलते करीब आधे लोगों को वापस उनके घर भेजना पड़ गया. क्षेत्र के गवर्नर ने सोमवार को बताया कि सेना और ड्राफ्ट के मानदंडों को पूरा नहीं कर पाने के चलते इन लोगों को वापस लौटा दिया गया है.

लामबंदी से बचने के लिए देश छोड़ रहे युवा
सेना की ओर से बिना सैन्य अनुभव वाले युवाओं को भी कॉल लेटर जाने की खबरों के बाद बड़ी संख्या में लोग देश छोड़ कर जा चुके हैं. मंगलवार को स्पेन स्थित फॉरवर्डकीज के फ्लाइट टिकटिंग डेटा के अनुसार, रूस से जारी एकतरफा उड़ान टिकटों की संख्या में 27% की वृद्धि दर्ज हुई है. 21 सितंबर से 27 सितंबर तक की बुकिंग की तुलना करने पर कंपनी ने पाया कि जारी किए गए एकतरफा टिकटों की हिस्सेदारी पिछले सप्ताह 47% की तुलना में बढ़कर 73% हो गई है. कंपनी ने कहा कि देश में डिपार्चर का औसत समय 34 से घटकर 22 दिन हो गया है.

Tags: Russia ukraine war, Vladimir Putin

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें