Home /News /world /

रूस ने US से कहा-तनाव बढ़ा तो क्यूबा और वेनेजुएला में तैनात करेंगे सेना

रूस ने US से कहा-तनाव बढ़ा तो क्यूबा और वेनेजुएला में तैनात करेंगे सेना

रूस के उप विदेश मंत्री सर्जेई रियाबकोव.

रूस के उप विदेश मंत्री सर्जेई रियाबकोव.

रूस के आरटीवीआई टीवी के साथ साक्षात्कार में उप विदेश मंत्री सर्जेई रियाबकोव (Sergei Ryabkov)ने कहा, ‘यह सब हमारे अमेरिकी समकक्षों की गतिविधियों पर निर्भर करता है.’ उन्होंने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका रूस को उकसाने वाले कार्रवाई करता है और उस पर सैन्य दबाव बनाता है तो रूस भी सैन्य एवं तकनीकी कदम उठा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    मॉस्को. रूस (Russia) के एक वरिष्ठ राजनयिक ने गुरुवार को चेतावनी दी कि अगर अमेरिका (US Russia Conflict) के साथ तनाव बढ़ता है तो क्यूबा और वेनेजुएला में रूस की सैन्य तैनाती की संभावनाओं को खारिज नहीं किया जा सकता. जिनेवा में सोमवार की वार्ता में रूसी प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करने वाले उप विदेश मंत्री सर्जेई रियाबकोव (Sergei Ryabkov) की टिप्पणी टेलीविजन पर प्रसारित हुई, जिसमें उन्होंने कहा कि क्यूबा और वेनेजुएला में रूस द्वारा सैन्य ढांचा खड़ा करने की संभावना की वह ना तो पुष्टि कर सकते हैं और ना ही इसे खारिज कर सकते हैं.

    जिनेवा में हुई वार्ता और बुधवार को विएना में हुई नाटो-रूस की बैठक में यूक्रेन के नजदीक रूस की सैन्य तैनाती के बीच उसकी सुरक्षा मांगों को लेकर बनी खाई को पाटने में सफलता नहीं मिली (Russia vs US Ukraine). रूस के आरटीवीआई टीवी के साथ साक्षात्कार में रियाबकोव ने कहा, ‘यह सब हमारे अमेरिकी समकक्षों की गतिविधियों पर निर्भर करता है.’ उन्होंने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका रूस को उकसाने वाले कार्रवाई करता है और उस पर सैन्य दबाव बनाता है तो रूस भी सैन्य एवं तकनीकी कदम उठा सकता है.

    आर्मी चीफ ने कहा- जंग हुई तो जीतेगा भारत, भड़के चीन ने कही ये बात

    रियाबकोव ने कहा कि अमेरिका और नाटो ने यूक्रेन और अन्य पूर्व-सोवियत राष्ट्रों तक गठबंधन बल के विस्तार को रोकने की गारंटी देने के लिए रूस की मांगों को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि प्रयासों में अंतराल से वार्ता जारी रहने की संभावना को लेकर संशय पैदा हो गया है. अमेरिका और रूस के बीच इस समय यूक्रेन सहित तमाम मुद्दों पर विवाद हो रहा है. लेकिन सबसे बड़ा मुद्दा अभी यूक्रेन का ही है.

    करोड़ों का चंदा और नजदीकी संबंध! क्या महिला जासूस के जरिए ब्रिटिश सांसदों को फंसा रहा चीन?

    यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की आशंका को देखते हुए, इसे रोकने के लिए अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन नाटो और रूस के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच बैठक हो रही हैं. रूस ने यूक्रेन पर हमले की योजना से इंकार किया है, लेकिन यूक्रेन और जॉर्जिया में इसकी सैन्य कार्रवाई के इतिहास को देखते हुए नाटो चिंता में है. उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग ने कहा था कि यूक्रेन की सीमा के पास मॉस्को के बड़े स्तर पर सैनिक तैनात हैं, जिससे तनाव के बावजूद सैन्य संगठन और रूस अधिक बैठकें करने के लिए सहमत हुए हैं. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: India russia, Ukraine

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर