होम /न्यूज /दुनिया /Russia-Ukraine war: रूस के भीषण मिसाइल हमलों के बीच किस बंकर में जाकर छिपे हैं यूक्रेन के राष्‍ट्रपति, जहां एटम बम भी बेअसर

Russia-Ukraine war: रूस के भीषण मिसाइल हमलों के बीच किस बंकर में जाकर छिपे हैं यूक्रेन के राष्‍ट्रपति, जहां एटम बम भी बेअसर

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के बंकर पर परमाणु हमला भी बेअसर.  (twitter.com/symplyrei )

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के बंकर पर परमाणु हमला भी बेअसर. (twitter.com/symplyrei )

कहा जा रहा है कि रूसी मिसाइल हमले के दौरान यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कीव के मध्य में मौजूद एक सुरक्षित बंकर मे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

रूसी मिसाइल हमले के दौरान यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की के बंकर में शरण लेने की खबर.
राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की रूसी सेना के कीव पर हमले के दौरान भी बंकर में मौजूद थे.
यूक्रेन के पूर्व प्रधानमंत्री अजारोव के मुताबिक इस बंकर पर परमाणु हमला भी बेअसर.

कीव. रूस ने यूक्रेन पर हाल ही में सबसे बड़ा मिसाइल हमला किया. कीव और ल्वीव सहित कई शहर रूस के मिसाइल हमलों से दहल गए. इस हमले में दसियों लोगों की मौत हुई और दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने हमले के बाद कीव में हुई तबाही की तस्वीरें शेयर कीं. लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि इस भीषण हमले के बीच राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहां शरण ले रखी थी. कहा जा रहा है कि रूसी मिसाइल हमले के दौरान यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कीव के मध्य में मौजूद एक सुरक्षित बंकर में शरण ली थी, जहां वे रूसी सेना के कीव पर हमले के दौरान मौजूद थे.

रूस की सेना जब अपने हमले के शुरू में यूक्रेन की राजधानी कीव के करीब पहुंची तो ये अफवाह फैल गई कि यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की देश छोड़कर भाग गए हैं. लेकिन तब जेलेंस्की ने कीव में राष्ट्रपति के पैलेस के करीब कहीं एक बंकर में शरण ली और युद्ध का नेतृत्व करने के काम में जुटे रहे. जेलेंस्की के देश छोड़ने की खबरों के बीच तब भी यूक्रेन के पूर्व प्रधानमंत्री अजारोव ने कहा था कि राष्ट्रपति जेलेंस्की कीव के सेंटर में बने एक बंकर में हो सकते हैं.

Russia-Ukraine war: यूक्रेन के जापोरिज्जिया शहर में रिहायशी इलाके में हुए हमले में 17 लोगों की मौत

बताया जाता है कि यह बंकर इतना मजबूत है कि इस पर परमाणु हमले का भी कोई असर नहीं होगा. फिलहाल कीव में हजारों लोग अपनी जान बचाने के लिए बंकरों में छिपे हैं. इसी बंकर से राष्ट्रपति जेलेंस्की एक सेटेलाइट फोन से अमेरिका और दूसरे देशों के नेताओं से नियमित संपर्क बनाए रखते हैं. जब कीव पर हमले बहुत तेज हो रहे थे तो जेलेंस्की इसी बंकर में दुनिया के कुछ मीडिया संस्थानों के रिपोर्टरों से बात करते थे. इस बंकर में वे लगातार अपने रक्षा सलाहकारों से घिरे रहते थे.

Tags: Nuclear weapon, Russia ukraine war, Ukraine

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें