होम /न्यूज /दुनिया /आखिर ढूंढ निकाला पानी से भरा दूसरा ग्रह! पृथ्वी से है 70% बड़ा, जानें इसके बारे में सबकुछ

आखिर ढूंढ निकाला पानी से भरा दूसरा ग्रह! पृथ्वी से है 70% बड़ा, जानें इसके बारे में सबकुछ

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से भी बड़े एक ग्रह की खोज की है. (फोटो-NASA)

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से भी बड़े एक ग्रह की खोज की है. (फोटो-NASA)

नासा के मुताबिक इस ग्रह का नाम TOI-1452 B है. यह ग्रह गोल्डीलॉक्स जोन में स्थित है. गोल्डीलॉक्स जोन में तापमान न तो बहु ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

नासा के मुताबिक इस ग्रह का नाम TOI-1452 B है.
यह ग्रह गोल्डीलॉक्स जोन में स्थित है.
अनुमान जताया जा रहा है कि इस ग्रह पर 30 फीसदी पानी हो सकता है.

नई दिल्ली. दुनियाभर के एस्ट्रोनॉट समय-समय पर नई खोज करते रहते हैं, जो हम सभी को चौंका देते हैं. इसी कड़ी में ऐसी ही एक नई खोज की गई है, जो वैज्ञानिकों के लिए किसी उम्मीद से कम नहीं है. वैज्ञानिकों ने पृथ्वी जैसे ग्रह की खोज की है. आशंका जताई जा रही है इस ग्रह पर बहुत गहरा महासागर भी हो सकता है. खगोलविदों के एक ग्रुप ने पृथ्वी जैसे ग्रह को देखा है, जो हमारे ग्रह से लगभग 100 प्रकाश वर्ष (100 light year) दूर है. नासा के मुताबिक इस ग्रह का नाम TOI-1452 B है. TOI-1452 b पृथ्वी के विपरीत दो सितारों की परिक्रमा कर रहा है, जो केवल एक सूर्य के चारों ओर घूमता है. यह ग्रह पृथ्वी से लगभग 70 फीसदी बड़ा है और लगभग पांच गुना विशाल है और इसमें संभवतः बहुत गहरा महासागर है.

यह ग्रह गोल्डीलॉक्स जोन में स्थित है. गोल्डीलॉक्स जोन में तापमान न तो बहुत गर्म होता है और न ही बहुत ठंडा, जिस वजह से ग्रह की सतह पर लिक्विड वॉटर मौजूद होने की उम्मीद है. मॉन्ट्रियल विश्वविद्यालय के शोधकर्ता डॉ चार्ल्स कैडियक्स ने खोज में अंतरराष्ट्रीय टीम का नेतृत्व किया और उनका शोध एस्ट्रोनॉमिकल जर्नल में प्रकाशित हुआ है. एक्सोप्लैनेट TOI-1452 b शायद पृथ्वी की तरह चट्टानी है, लेकिन इसकी रेडियस, मास और डेनसिटी पृथ्वी से बहुत अलग है. पृथ्वी अनिवार्य रूप से एक बहुत शुष्क ग्रह है. भले ही हम इसे कभी-कभी ब्लू प्लैनेट कहते हैं क्योंकि इसकी सतह का लगभग 70% हिस्सा समुद्र से ढका हुआ है.

अनुमान जताया जा रहा है कि पानी इस नए ग्रह के द्रव्यमान का 30 फीसदी तक हो सकता है.. तुलनात्मक रूप से पृथ्वी के 70 प्रतिशत जल क्षेत्र कुल द्रव्यमान का केवल 1 प्रतिशत बनाते हैं. यह सुनिश्चित करने के लिए क्या TOI-1452 b पानी की मौजूदगी वाला ग्रह है, वैज्ञानिकों को जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप का इस्तेमाल करने की आवश्यकता होगी. जेम्स वेब टेलीस्कोप ही इस ग्रह से संबंधित सच्चाई सामने ला सकता है. TOI-1452 b ग्रह हर 11 दिनों में एक बार अपने लाल-बौने तारे की परिक्रमा करता है.

Tags: Nasa

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें