सीरिया: पिता ने शरणार्थी कैंप में 6 साल की बेटी को जंजीरों में बांध कर रखा, अब हुई भूख से मौत

नहला अल ओथमान (फोटो- @HerakiHamza)

नहला अल ओथमान (फोटो- @HerakiHamza)

Refugee Camp: सीरिया के रिफ्यूजी कैंप में पिता उसे दिन में अक्सर जंजीर से बांध कर रखते थे. ताकि वो दूसरों के साथ आराम से न खेल सके

  • Share this:

दमिश्क. 6 साल की इस बच्ची की तस्वीर कुछ महीने पहले पूरी दुनिया में वायरल हुई थी. इसका नाम है नहला अल ओथमान. ये सीरिया की रहने वाली थी. युद्ध के चलते ये बच्ची राहत कैंप (Refugee Camp) में अपने पिता के साथ रहती थी. लेकिन नहला अब इस दुनिया में नहीं रही. वो कुपोषण का शिकार थी. कैंप के लोगों का कहना है कि नहला के पिता उसका ठीक से खयाल नहीं रखते थे. कहा जा रहा है कि भूखे रहने के चलते उसे हेपेटाइटिस बी और दूसरी बीमारियां हो गईं. बाद में इस बच्ची ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

सीरिया के रिफ्यूजी कैंप में पिता उसे दिन में अक्सर जंजीर से बांध कर रखते थे. ताकि वो दूसरों के साथ आराम से न खेल सके. कहा जा रहा है कि उसके पिता उसे काफी तकलीफ देते थे. नहला को महीने में सिर्फ एक बार नहाने की इजाजत थी. वो उसे ठीक से खाना भी नहीं देते थे. इसके अलावा बच्ची को मां से भी अलग कर दिया गया था. कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि जल्दी-जल्दी खाने के दौरान गला चोक हो जाने की वजह से उसकी मौत हो गई.


ये भी पढ़ें:- 26 राज्‍यों तक पहुंचा ब्‍लैक फंगस, 20000 मरीजों का इलाज जारी, इंजेक्‍शन की कमी
कैंप सुपरवाइजर मुताबिक उन्होंने कई बार बच्ची के पिता से उसे जंजीरों से मुक्त करने और पिंजरे में न रखने के लिए कहा लेकिन वो हमेशा मना कर देता था. नहला की जंजीरों में जकड़ी तस्वीर वायरल होने से हंगामा मच गया था. इस तस्वीर के जरिए लोगों ने देखा कि सीरिया के उत्तर में स्थित शिविरों में रह रहे लाखों लोग कितनी मुश्किल में है. इसके बाद कुछ समय के लिए उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया गया था. नहला अपने परिवार के साथ उत्तर पश्चिमी सीरिया के विद्रोहियों के कब्जे वाले हिस्से में स्थित फरजल्लाह शिविर में रहती थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज