• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • इस देश के राष्ट्रपति ने बैन किया कुत्ते का मीट, कहा- अब मेन्यू चेंज करने का वक्त

इस देश के राष्ट्रपति ने बैन किया कुत्ते का मीट, कहा- अब मेन्यू चेंज करने का वक्त

मून को कुत्ता प्रेमी जाना जाता है, उनके पास राष्ट्रपति भवन में कई छोटे जानवर हैं. (AP)

मून को कुत्ता प्रेमी जाना जाता है, उनके पास राष्ट्रपति भवन में कई छोटे जानवर हैं. (AP)

दक्षिण कोरिया (South Korea) के राष्ट्रपति मून जे इन (Moon Jae-in) ने प्रधानमंत्री किम बू क्यूम को साप्ताहिक मीटिंग के दौरान कहा, 'क्या विवेकपूर्ण ढंग से कुत्ते के मांस (Dog Meat) सेवन को प्रतिबंधित करने पर विचार करने का समय नहीं आ गया है.' मून को कुत्ता प्रेमी जाना जाता है, उनके पास राष्ट्रपति भवन में कई छोटे जानवर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    सोल. दक्षिण कोरिया (South Korea) के राष्ट्रपति मून जे इन (Moon Jae-in) ने देश में कुत्ते के मांस खाने (Dog Meat) पर बैन लगाने का सुझाव दिया है. उनका कहना है कि आदत को खत्म करने का समय आ गया है, क्योंकि ये अंतरराष्ट्रीय शर्मिंदगी बन रही है. मांस दक्षिण कोरिया के भोजन का लंबे समय से हिस्सा रहा है. माना जाता है कि सालाना करीब 10 लाख कुत्ते खा लिए जाते हैं, लेकिन हाल के दिनों में ज्यादातर लोग पशुओं को साथी के रूप में महत्व देने लगे हैं.

    अंतरराष्ट्रीय मीडिया के मुताबिक, मून ने प्रधानमंत्री किम बू क्यूम को साप्ताहिक मीटिंग के दौरान कहा, ‘क्या विवेकपूर्ण ढंग से कुत्ते के मांस सेवन को प्रतिबंधित करने पर विचार करने का समय नहीं आ गया है. अब इसे मेन्यू से हटाना चाहिए.’ हालांकि, बयान का पूरा विवरण मीडिया को उपलब्ध नहीं कराया गया.
    ‘ हालांकि, बयान का पूरा विवरण मीडिया को उपलब्ध नहीं कराया गया.

    रूस में क्यों कुत्तों का रंग हो रहा नीला? भारत में 4 साल पहले हुआ था ऐसा मामला

    मून को कुत्ता प्रेमी जाना जाता है, उनके पास राष्ट्रपति भवन में कई छोटे जानवर हैं, जिसमें टॉरी नाम का रेस्क्यू किया हुआ शामिल है. घरों में कुत्तों को रखनेवालों की तादाद बढ़ने से पालतू पशुओं का उद्योग फल फूल रहा है. टॉरी को अपनाना मून के चुनावी अभियान का एक वादा था. ब्लू हाउस में जगह बनानेवाला पहला कुत्ता बन गया.

    दक्षिण कोरिया में कुत्ते और बिल्लियों को मारे जाने से रोकने के लिए पशु सुरक्षा कानून है. हालांकि, ये कानून रेस्टोरेंट और संस्थानों में सेवन को बैन नहीं करता है. कोरिया की संस्कृति की मान्यता है कि कुत्ते के मांस में पौराणिक गुण होते हैं जो शक्ति और मर्दानगी बढ़ाता है. परंपरावादियों की प्रतिक्रिया के डर से कोरिया की सरकार ने कानून में संशोधन नहीं किया है.

    फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों पर अंडे से हमला, प्रदर्शनकारी ने लगाए ‘इंकलाब जिंदाबाद’ के नारे

    आलोचकों का इस बात पर जोर है कि बैन से ही समस्या का हल होगा. दक्षिण कोरिया के बहुत सारे लोग विशेषकर बुजुर्ग कुत्ते के मांस का सूप इस्तेमाल करते हैं. उनका मानना है कि ये गर्मी के मौसम में ब्लड को ठंडा रखता है. ह्यूमन सोसायटी इंटरनेशनल का अनुमान है कि करीब 30 मिलियन कुत्ते एक साल में एशिया में मार दिए जाते हैं. चीन में भी कुत्ते के मांस का सेवन खत्म करने पर विचार किया जा रहा है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज