Home /News /world /

srilanka political crisis president gotabaya rajapaksa flee people protest continued latest update

गोटबाया राजपक्षे ने भागने से पहले PM विक्रमसिंघे को किया था फोन, पढ़ें श्रीलंका संकट के 10 अपडेट

श्रीलंका आज फिर से गृह युद्ध के मुहाने पर खड़ा है. श्रीलंका की जनता की भूख और महंगाई ने सरकार की नींव हिला दी है.  (AP)

श्रीलंका आज फिर से गृह युद्ध के मुहाने पर खड़ा है. श्रीलंका की जनता की भूख और महंगाई ने सरकार की नींव हिला दी है. (AP)

श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों के राष्ट्रपति आवास पर कब्जा करने के बाद ऐसे में सवाल ये है कि गोटबाया कहां गायब हो गए? स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गोटबाया शुक्रवार को राष्ट्रपति आवास पर ईरान के राजदूत से मिले थे. इसके बाद उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पायी है.

अधिक पढ़ें ...

Sri Lanka Crisis Latest Update: श्रीलंका अपनी आजादी के बाद से सबसे बुरे आर्थिक दौर का सामना कर रहा है. पिछले 3 महीने से जारी आर्थिक और राजनीतिक संकट के बीच शनिवार को राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के देश छोड़कर भागने की खबर सामने आई. जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया. जिसकी अलग-अलग तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. इस बीच सोमवार को प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी बयान में कहा गया कि गोटबाया ने राष्ट्रपति भवन छोड़ने से पहले प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे से बात की थी. इसमें गोटबाया ने कहा था कि वे इस्तीफा दे देंगे.

श्रीलंका में प्रदर्शनकारियों के राष्ट्रपति आवास पर कब्जा करने के बाद ऐसे में सवाल ये है कि गोटबाया कहां गायब हो गए? स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गोटबाया शुक्रवार को राष्ट्रपति आवास पर ईरान के राजदूत से मिले थे. इसके बाद उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

पढ़ें श्रीलंका में आर्थिक और राजनीतिक संकट के बड़े अपडेट्स…

गोटबाया राजपक्षे ने 13 जुलाई को सशर्त इस्तीफा देने का ऐलान किया है. गोटबाया 8 जुलाई के बाद कोलंबो में नहीं दिखे हैं.
श्रीलंकन सरकार में मंत्री हिरेन फर्नांडो और मनुषा ननयकारा ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को भेजा है.
श्रीलंका पुलिस ने देश में बिगड़ते हालात के बीच कई प्रांतों में कर्फ्यू लगाया. चीफ डिफेंस स्टाफ ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.
प्रदर्शनकारियों ने समागी जाना बालवेगया (SJB) के सांसद रजिता सेनारत्ने पर हमला किया. हालांकि, वह बाल-बाल बच गए.
सोमवार सुबह प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन के ग्राउंड में जमा कचरे को साफ करके अपनी जिम्मेदारी का अहसास कराया. प्रदर्शनकारियों ने ग्राउंड को पूरा साफ किया और कचरा जमा करके उसे थैलियों में पैक करके फिंकवाया.
गोटबाया ने रविवार को श्रीलंका के अफसरों को एक निर्देश जारी किया है. राजपक्षे ने अधिकारियों को गैस की अनलोडिंग और उसकी सप्लाई का काम तेजी से करने का निर्देश दिया है, क्योंकि रविवार को केरावलपिटिया में पहला जहाज गैस लेकर पहुंचेगा.
श्रीलंकाई मीडिया के अनुसार, 3,740 मीट्रिक टन गैस लेकर आने वाला दूसरा जहाज 11 जुलाई को पहुंचेगा और तीसरा 3,200 मीट्रिक टन गैस 15 जुलाई को आएगा.
इधर, श्रीलंका में नई सरकार के गठन को लेकर विपक्षी दलों ने तैयारी शुरू कर दी है. सूत्रों के मुताबिक मुख्य विपक्षी दल समागी जन बालवेगया (SJB) और उसके सहयोगी दल सर्वदलीय सरकार के गठन के लिए जल्द स्पेशल पार्टी मीटिंग बुला सकते हैं.
इन्वेस्टमेंट प्रमोशन मिनिस्टर धम्मिका परेरा ने आज मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. धम्मिका बीते दो महीने में मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले चौथे मंत्री हैं.
वहीं, दूसरी तरफ सेना प्रमुख शैवेंद्र सिल्वा ने लोगों से सिक्योरिटी फोर्सेस और पुलिस का सहयोग करने की अपील की है, ताकि देश में शांति स्थापित की जा सके.

Tags: Protest, Sri lanka

अगली ख़बर