रूस के वैज्ञानिकों का दावा- पानी में मर जाता है कोरोना वायरस

रूस के वैज्ञानिकों का दावा- पानी में मर जाता है कोरोना वायरस
सांकेतिक तस्वीर

वैज्ञानिकों ने इस बात को लेकर रिसर्च किया है कि आखिर पानी में कितनी देर कोरोना वायरस (Coronavirus) रहता है. रिसर्च के बाद दावा किया गया है कि पानी में कोरोना वायरस 72 घंटों के भीतर लगभग पूरी तरह खत्म होता है.

  • Share this:
मॉस्को. कोरोना वायरस (Coronavirus) से पूरी दुनिया में कोहरमा मचा. अब तक इस वायरस से दुनिया भर में 1 करोड़ 73 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं. जबकि इस दौरान अब तक साढ़े छह लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच वैज्ञानिक इस वायरस को लेकर नए-नए दावे कर रहे हैं. पिछले दिनों अमेरिका के कई वैज्ञानिकों WHO को लिखा था कि हवा के जरिए भी कोरोना वायरस फैल रहा है. अब रूस में कोरोना को लेकर नए रिसर्च किए गए है. यहां के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि पानी में कोरोना वायरस मर जाते हैं.

72 घंटे में खत्म!
रूस की न्यूज़ एजेंसी TASS के मुताबिक वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी के कुछ वैज्ञानिकों ने इस बात को लेकर रिसर्च किया है कि आखिर पानी में कितनी देर कोरोना वायरस रहता है. रिसर्च के बाद दावा किया गया है कि पानी में कोरोना वायरस 72 घंटों के भीतर लगभग पूरी तरह खत्म होता है.

पानी के उबलने से वायरस पूरी तरह नष्ट
रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'ये साबित हो गया कि डीक्लोराइनेटेड और खारे पानी में वायरस नहीं फैलता है, लेकिन संरक्षित किया जा सकता है. कोरोनवायरस के खत्म होने का समय सीधे पानी के तापमान पर निर्भर करता है. कमरे के तापमान पर पानी में COVID का 90% विषाणु मर जाता है. जबकि 72 घंटों के दौरान 99.9% कोरोना पूरी तरह खत्म हो जाता है. इसके अलावा ये भी कहा गया है कि पानी के उबलने से वायरस पूरी तरह नष्ट हो जाता है. जबकि क्लोरीनयुक्त पानी में कोरोनावायरस अपनी ताकत पूरी तरह खो देता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading