होम /न्यूज /दुनिया /Ukraine Crisis: यूक्रेन में क्या जंग शुरू हो गई है? जानें अब तक के बड़े अपडेट्स

Ukraine Crisis: यूक्रेन में क्या जंग शुरू हो गई है? जानें अब तक के बड़े अपडेट्स

दोनों देशों ने एक दूसरे पर हमले का आरोप लगाया है.

दोनों देशों ने एक दूसरे पर हमले का आरोप लगाया है.

Ukraine Crisis: रूस ने यूक्रेन बॉर्डर पर सात हजार और सैनिक तैनात कर दिए हैं. ये दावा अमेरिकी रक्षा सचिव एंटनी ब्लिंकेन ...अधिक पढ़ें

    मॉस्को. रूस और यूक्रेन के बीच तनाव (Ukraine Crisis) लगातार बढ़ता जा रहा है. कई देशों के दखल और कोशिशों के बावजूद युद्ध का खतरा कम नहीं हुआ है. इनपुट मिल रहे हैं कि रूस ने यूक्रेन बॉर्डर (Ukraine War) पर सेना बढ़ा दी है. दावे वापसी के थे, लेकिन जमीन पर स्थिति अलग दिखाई पड़ रही है. जानिए रूस और यूक्रेन के बीच जारी टकराव के अपडेट्स… 

    रूस ने यूक्रेन बॉर्डर पर सात हजार और सैनिक तैनात कर दिए हैं. ये दावा अमेरिकी रक्षा सचिव एंटनी ब्लिंकेन की तरफ से किया गया है. रूस ने सैनिकों की वापसी की बात जरूर की है, लेकिन वे उल्टा बॉर्डर की ओर जाते दिख रहे हैं. अभी तक पुलबैक की कोई संभावना नहीं दिखाई दे रही.
    अमेरिकी स्पेस फर्म Maxar Technologies की ओर से मिली सैटेलाइट तस्वीरों ने भी साफ कर दिया है कि रूस अभी शांत बैठने के मूड में नहीं है. जो तस्वीरें सामने आई हैं, उनमें देखा जा सकता है कि रूस एक अस्थाई पुल का निर्माण कर रहा है, लड़ाकू हेलीकॉप्टर दिख रहे हैं और ब्रेस्टस्काई ट्रेनिंग एरिया में बख्तरबंद गाड़ियां और तोपखाने रखे हैं.
    दोनों देशों ने एक दूसरे पर हमले का आरोप लगाया है. यूक्रेन का कहना है कि गुरुवार को रूसी समर्थित अलगाववादियों ने उसके डोनबास क्षेत्र के एक गांव में स्कूल पर गोले दागे. इस हमले में 3 लोगों के घायल होने की खबर है. वहीं, रूसी मीडिया ने अलगाववादियों के नेता लियोनिद पासेचनिक के हवाले से यूक्रेनी आर्म्ड फोर्सेस पर लुहान्स्क क्षेत्र में आम नागरिकों पर हमले का आरोप लगाया.
    अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन भी दोनों देशों के बीच युद्ध की आशंका जाहिर कर चुके हैं. रूस ने यूक्रेन बॉर्डर से अपनी सैनिकों के वापसी की बात कही है, लेकिन अमेरिका को अब भी उस पर भरोसा नहीं है. बुधवार को व्हाइट हाउस के संबोधन में बाइडेन ने कहा- हम रूस के वादों और दावों पर फिलहाल, भरोसा नहीं कर सकते. यूक्रेन तनाव को लेकर कल संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी बैठक हुई. इस बैठक में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने रूस पर आक्रामक गतिविधियों का जारी रखने का आरोप लगाया. ब्लिंकन ने कहा- 'अमेरिकी खुफिया विभाग के पास पुख्ता जानकारी है कि रूस यूक्रेन पर हमला करेगा. अगर ऐसा नहीं है तो मॉस्को इसका ऐलान करे.'
    रूस ने अमेरिकी डिप्लोमैट बार्ट गोर्मन को मॉस्को एम्बेसी से निकाल दिया है. अमेरिका के एक अधिकारी ने इसे भड़काऊ कदम बताते हुए साफ कर दिया कि अमेरिकी किसी भी मामले में पीछे हटने वाला नहीं है. उन्होंने कहा- 'यह तो साफ तौर पर तनाव बढ़ाने वाला कदम है. इन तरीकों के इस्तेमाल से डिप्लोमैटिक सॉल्यूशन नहीं खोज सकते'.
    इस बीच यूरोप के आखिरी ‘तानाशाह’ माने जाने वाले बेलारूस (Belarus) के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको (Aleksandr Lukashenko) रूस की राजधानी मॉस्को (Moscow) में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) से मुलाकात करेंगे. दोनों नेताओं के बीच ये मुलाकात 18 फरवरी को होने वाली है. यहां गौर करने वाली बात ये है कि पुतिन और लुकाशेंको के बीच ये मुलाकात तब हो रही है, जब रूस ने अपने सैनिकों को बेलारूस में तैनात किया हुआ है. इस तरह उसने उत्तर की ओर से यूक्रेन को घेरा हुआ है.
    वहीं, यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की तरफ से फ्लाइट्स नहीं मिलने को लेकर की जा रही शिकायत के बाद भारत सरकार एक्टिव हो गई है. सरकार ने कोरोना वायरस के कारण ​​​​​एयर बबल एग्रीमेंट के तहत ​​यूक्रेन आने-जाने के लिए सीमित फ्लाइट्स संचालित करने का प्रतिबंध हटा लिया है. अब यूक्रेन के लिए एयरलाइंस कितनी भी फ्लाइट्स संचालित कर सकती हैं. साथ ही स्पेशल चार्टर्ड फ्लाइट्स भी ऑपरेट की जा सकती हैं.
    ब्रिटेन की सरकार (British Government) ने गुरुवार को कहा कि सुरक्षा चिंताओं के बीच अमीर विदेशी निवेशकों को निवास की पेशकश करने वाली तथाकथित ''गोल्डन वीजा'' (Golden Visa) व्यवस्था को वह समाप्त कर रहा है. ब्रिटेन पर लगातार रूस के साथ अपने संबंधों की समीक्षा करने का दबाव बन रहा था. ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने कहा कि टियर-1 निवेशक वीजा व्यवस्था ने ''भ्रष्ट अमीर लोगों को ब्रिटेन में पहुंच के अवसर'' प्रदान किए हैं.

    Tags: Joe Biden, Ukraine, Vladimir Putin

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें