UN ने कहा- इथोपिया में पुरुषों को परिवार की महिलाओं के साथ रेप के लिए किया जा रहा मजबूर

कॉन्सेप्ट इमेज (Reuters)

कॉन्सेप्ट इमेज (Reuters)

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने कहा कि इथियोपिया (Ethiopia) के तिग्रे क्षेत्र में 500 से अधिक बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं. साथ ही, चेतावनी दी है कि वास्तविक मामलों की संख्या कहीं ज्यादा भी हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 1:12 PM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने गुरुवार को कहा कि इथियोपिया (Ethiopia) के तिग्रे क्षेत्र में 500 से अधिक बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं. 5 मेडिकल सेंटर्स से बलात्कार के 500 से ज्यादा मामलों की सूचना दी गई है. संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि वास्तविक मामलों की संख्या कहीं ज्यादा भी हो सकती है. महिलाओं के साथ बहुत अत्याचार किए गए, उनके साथ सामूहिक बलात्कार किए और परिवार के सदस्यों को अपने ही परिवार की महिलाओं का बलात्कार करने के लिए मजबूर किया गया. संयुक्त राष्ट्र की उप सहायक वफा नेन्यू यॉर्क में यूएन सदस्य राज्यों की एक ब्रीफिंग में बताया, "महिलाओं का कहना है कि सैनिकों द्वारा उनका बलात्कार किया गया है, उन्होंने सामूहिक बलात्कार किया, परिवार के सदस्यों के सामने बलात्कार किया और हिंसा की धमकी देते हुए अपने ही परिवार के सदस्यों से बलात्कार कराने के लिए मजबूर किया गया."

उन्होंने कहा कि कम से कम 516 बलात्कार के मामले मेकेले, आदिग्रत, वुकरो, शायर और एक्सम के पांच चिकित्सा सुविधाओं द्वारा दर्ज किए गए थे. उन्होंने कहा कि यह देखते हुए कि बहुत से मेडिकल सेंट्रस काम नहीं कर रहे हैं, ऐसा अनुमान है कि वास्तविक बलात्कारों की संख्या काफी अधिक है. इथियोपिया के यूए राजदूत, ताए एत्सेस्सेलसी एमडे ने कहा कि सरकार पर यौन हिंसा के आरोपों को "बहुत गंभीरता से" लिया है और इसको लेकर एक तथ्य-खोज मिशन शुरू किया गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स को कई गवाहों को बताया कि पड़ोसी इरिट्रिया के सैनिकों ने संघर्ष के दौरान यहां के नागरिकों के साथ सामूहिक बलात्कार किया, अत्याचार किया. इसके अलावा घरों और फसलों को भी लूट लिया.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने कहा- US सैनिक हटे तो पूरे अफगानिस्तान पर होगा तालिबान का कब्जा
ग्रे में हुई हिंसा ने हजारों लोगों की जान ले ली है और पर्वतीय क्षेत्र में रह रहे हजारों लोगों को उनके घरों से निकलने के लिए मजबूर किया है. बता दें कि तिग्रे में नवंबर महीने में सरकारी बलों और इस इलाके में पहले शासन करने वाली पार्टी तिग्रे पीपुल्‍स लिबरेशन फ्रंट के बीच युद्ध चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज