Home /News /world /

unification church confirms mother of shinzo abe suspect is member rsr

जापान: यूनीफिकेशन चर्च ने शिंजो आबे की हत्या से खुद को किया अलग, जानें क्या है पूरा मामला

8 जुलाई को जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. (फाइल फोटो)

8 जुलाई को जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. (फाइल फोटो)

Shinzo Abe Killing: जापान के सबसे प्रभावशाली नेताओं में शुमार शिंजो आबे की बीते 8 जुलाई को एक चुनाव सभा के दौरान भाषण देते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

टोक्यो. यूनीफिकेशन चर्च ने सोमवार को माना कि जापान के पूर्व प्रधानंमत्री शिंजो आबे की हत्या के आरोपी व्यक्ति की मां उसकी सदस्य है, लेकिन मीडिया की इस अटकल की जांच की रही है कि उनके द्वारा चंदा देने से उनका बेटा शायद नाराज हो गया जिसकी वजह से उसने आबे की हत्या कर दी. पुलिस ने कहा है कि संदिग्ध तेत्सुया यामागामी ने जांचकर्ताओं को बताया है कि जिस संगठन को लेकर वह अप्रसन्नत, उसके साथ आबे के संबंधों की अटकलों के चलते वह उन्हें मार देना चाहता था. वैसे पुलिस ने संगठन का नाम नहीं बताया.

जापानी मीडिया की खबरों में उसे एक धार्मिक संगठन बताते हुए कहा गया है कि उसकी मां ने बहुत बड़ा चंदा दिया, जो संभवत: बाद में उसकी (मां) के दिवालिये हो जाने की वजह थी. इसी वजह से वह नाराज था. यूनीफिकेशन चर्च की जापान शाखा के प्रमुख तोमिहीरो तनाका ने संवाददाता सम्मेलन में स्वीकार किया कि वह (संदिग्ध हत्यारे की मां) सदस्य है, लेकिन उन्होंने उनके चंदे के बारे में विशिष्ट रूप से कुछ कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने सामान्य तौर पर माना कि कुछ लोगों ने बड़ी उदारता से दान दिया लेकिन उसके लिए किसी को विवश नहीं किया गया.

शिंजो आबे की 8 जुलाई को गोली मारकर कर दी गई थी हत्या
तनाका ने मीडिया की खबरों को अटकलें कहकर खारिज कर दिया. उन्होंने कहा, ‘(हम) यह समझने का प्रयास कर रहे हैं कि कैसे ऐसी नफरत की वजह हत्या के लिए प्रेरित हुए, पेचीदा है.’ उन्होंने कहा कि आबे गिरजाघर के सदस्य नहीं हैं, लेकिन उन्होंने संबंधित संगठनों के कुछ कार्यक्रमों में संबोधन दिया हो. जापान के सबसे प्रभावशाली नेताओं में शुमार आबे की बीते 8 जुलाई को एक चुनाव सभा के दौरान भाषण देते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

जापानी नौसेना का एक पूर्व सदस्य तेत्सुया यामागामी गिरफ्तार
दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में से एक माने जाने वाले जापान में इस घटना ने लोगों को स्तब्ध कर दिया, जहां बंदूक नियंत्रण संबंधी कड़े कानून हैं. आबे (67) को देश के पश्चिमी हिस्से के नारा में भाषण शुरू करने के कुछ मिनटों बाद हमलावर ने आबे पर गोली चलाई थी. आबे को विमान से एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी सांस नहीं चल रही थी और उनकी हृदय गति रुक गई थी. पुलिस ने मौके से जापान की नौसेना के एक पूर्व सदस्य तेत्सुया यामागामी को गिरफ्तार किया था.

Tags: Japan, Shinzo Abe

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर