ऑस्‍ट्रेलिया के जंगल से बचाई गई भेड़, शरीर से निकला 35 किलो ऊन, देखें वीडियो

इस भेड़ का नाम बराक रखा गया है. (Pic- Facebook)

इस भेड़ का नाम बराक रखा गया है. (Pic- Facebook)

इस भेड़ (Sheep) का नाम बराक रखा गया है. माना जा रहा है कि यह भेड़ कम से कम 5 साल तक जंगलों में भटकती रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 8:40 AM IST
  • Share this:
केनबरा. दुनिया के कुछ हिस्‍सों से कभी-कभी हैरान करने वाली खबरें सामने आती हैं. ऐसी ही एक खबर ऑस्‍ट्रेलिया (Australia) से सामने आई है. आमतौर पर रोजाना सड़क या पहाड़ी पर किसी को कोई भेड़ दिखती है तो वह उस पर इतना ध्‍यान नहीं देता. लेकिन जब भेड़ (Sheep) की खाल के रूप में जमे ऊन की मात्रा सामान्‍य से कहीं अधिक हो, तो उस पर हर किसी की निगाह रुक जाएगी. ऐसा ही कुछ हुआ ऑस्‍ट्रेलिया में. वहां के जंगलों से एक ऐसी भेड़ को बचाया गया है, जिसके शरीर पर 35 किलो ऊन की मोटी परत जम गई थी.

जानकारी के अनुसार इस भेड़ का नाम बराक रखा गया है. माना जा रहा है कि यह भेड़ कम से कम 5 साल तक जंगलों में भटकती रही है. ऐसे में बिना ऊन की कटाई के इसके शरीर में 35 किलो ऊन उग गया था. यह भेड़ एक समूह को विक्‍टोरियन स्‍टेट फॉरेस्‍ट में भटकती मिली थी. हाल ही में उसे वहां से बचाकर एक एनिमल रेस्‍क्‍यू सेंटर पर ले जाया गया. जहां उसका ख्‍याल रखा जा रहा है.





मीडियो रिपोर्ट के अनुसार एडगर मिशन फार्म सेंचुरी के संस्‍थापक पैम अहर्न ने कहा कि उन्‍हें विश्‍वास ही नहीं हुआ कि इस ऊन के ढेर के नीचे कोई भेड़ असल में जिंदा भी रह सकती है. इस भेड़ के ऊन को कम से कम 5 साल तक नहीं काटा गया है. ऐसा लगता है कि जब यह भेड़ छोटी थी, तभी जंगल में भटक गई होगी. उसके बाद इसे वापस आने का रास्‍ता नहीं मिला.

बराक नामक इस भेड़ को बचाने के बाद इसे सेंटर पर लाया गया. वहां इसके ऊन को अलग किया गया. इसके बाद इसके खानपान का पूरा ख्‍याल रखा जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज