बुरी खबर! वैज्ञानिकों ने चेताया, गर्भवती Corona संक्रमित महिलाओं को हो सकती है ये परेशानी...

बुरी खबर! वैज्ञानिकों ने चेताया, गर्भवती Corona संक्रमित महिलाओं को हो सकती है ये परेशानी...
कॉन्सेप्ट इमेज.

एंडोक्रिनोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध में विशेषज्ञों ने कहा कि ऐसे में महिलाओं को रक्त (Blood) को पतला करने वाली उपचार पद्धति लेनी पड़ सकती है या उन्हें अपनी एस्ट्रोजन वाली दवाएं बंद करना पड़ सकता है.

  • Share this:
बोस्टन. कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर अब एक नई खबर सामने आ रही है. दरअसल, वैज्ञानिकों का कहना है कि गर्भवती स्त्रियों को कोविड-19 (Covid-19) के कारण खून के थक्के जमने का जोखिम होता है. यह जोखिम उन महिलाओं को भी होता है जो एस्ट्रोजन वाले गर्भनिरोधक अथवा हार्मोन रिप्लेसमेंट थैरेपी ले रही हों. अमेरिका के टफ्ट्स विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं समेत अन्य शोधकर्ताओं के मुताबिक कोविड-19 के कारण होने वाली जटिलताओं में ऐसे लोगों में खून के थक्के जमने की परेशानी भी शामिल है जो संक्रमण की चपेट में आने से पहले स्वस्थ थे. उन्होंने कहा कि गर्भावस्था के दौरान स्त्रियों में पाया जाने वाला हार्मोन एस्ट्रोजन खून के थक्के जमने के जोखिम को बढ़ाता है. गर्भ निरोध गोलियां या हार्मोन रिप्लेसमैंट थैरेपी लेने वाली महिलाओं को भी यह जोखिम होता है. ऐसे में यदि महिलाएं कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाती हैं तो यह आशंका और भी बढ़ जाती है.

शोधकर्ताओं का मानना है कि रक्त के गाढ़ा होने या खून के थक्के जमने से कोरोना वायरस का संबंध और बेहतर ढंग से समझने के लिए अधिक शोध की आवश्यकता है. एंडोक्रिनोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध में विशेषज्ञों ने कहा कि ऐसे में महिलाओं को रक्त को पतला करने वाली उपचार पद्धति लेनी पड़ सकती है या उन्हें अपनी एस्ट्रोजन वाली दवाएं बंद करना पड़ सकता है. शोधकर्ताओं में से एक डेनियल स्प्राट ने कहा, 'इस वैश्विक महामारी के दौर में, यह पता लगाने के लिए हमें और अधिक शोध करने की जरूरत है कि गर्भावस्था के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाली महिलाओं को खून पतला करने वाला उपचार देने की जरूरत है या नहीं और गर्भनिरोधक या हार्मोन थैरेपी ले रही महिलाओं को इन्हें लेना बंद करना चाहिए या नहीं.'

ये भी पढ़ें: भारत में राफेल की दस्तक से पाकिस्तान को लगा 'जोर का झटका', लगाई गुहार, छान मारा Google



पिछले 24 घंटों में दो लाख 97 हजार कोरोना केस
उल्लेखनीय है कि, कोरोना वायरस का खतरा कम होने का नाम नहीं ले रहा. कोरोना का प्रकोप अब पहले के मुकाबले तेजी से फैल रहा है. इसका अनुमान पिछले चौबीस घंटों में दुनियाभर में आ कोरोना के नए मामलों से लगाया जा सकता है. पिछले 24 घंटों में दुनियाभर में दो लाख 97 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. इनमें अमेरिका, ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका शीर्ष पर हैं. भारत में पहली बार एक दिन में 50 हजार से ज्यादा मामले आने का रिकॉर्ड बन गया है. इसी के साथ दुनियाभर में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक करोड़ 71 लाख 84 हजार 770 हो गई है. जिनमें से 6 लाख 70 हजार 152 लोगों की जान जा चुकी है. हालांकि एक करोड़ 6 लाख 96 हजार 604 मरीज ऐसे भी है जो इलाज के बाद पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. वहीं 58 लाख 18 हजार 14 लोग दुनियाभर में कोरोना से अभी भी पीड़ित है. पिछले चौबीस घंटों के दौरान 7600 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. चीन के वुहान शहर से पिछले साल दिसंबर में निकले कोरोना ने सबसे ज्यादा अमेरिका को प्रभावित किया है. अमेरिका में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading